Hindi News »Chhatisgarh »Sakti» बंसल पर लगाया सरकारी पट्‌टे की जमीन को अपने नाम कराने व झूठा शपथ पत्र दाखिल करने का आरोप

बंसल पर लगाया सरकारी पट्‌टे की जमीन को अपने नाम कराने व झूठा शपथ पत्र दाखिल करने का आरोप

ग्राम पोरथा के आश्रित ग्राम डोगिया में सरकार द्वारा दी गई जमीन को विक्रेता से गलत शपथ पत्र और निजी बताकर अपने नाम...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jan 03, 2018, 03:00 AM IST

ग्राम पोरथा के आश्रित ग्राम डोगिया में सरकार द्वारा दी गई जमीन को विक्रेता से गलत शपथ पत्र और निजी बताकर अपने नाम पर रजिस्ट्री कराने, सड़क से 500 मीटर दूर जमीन का रजिस्ट्री कराने के बाद एनएच से लगी जमीन पर कब्जा करने एवं सक्ती नगर में संचालित सब्जी बाजार की जमीन को भी खुद का बताकर कब्जा करने के मामले में एसडीएम ने जगदीश बंसल को नोटिस जारी किया है। दोनों ही मामलों में 3 जनवरी तक स्पष्टीकरण देने के लिए समय नियत किया गया है।

इस दिन जवाब प्रस्तुत नहीं करने पर एफआईआर कराने की भी चेतावनी दी गई है। एसडीएम इंद्रजीत बर्मन ने जगदीश बंसल के दिए नोटिस में स्पष्ट किया है कि उनके द्वारा खसरा नं. 390/1 के दस्तावेज मंगाकर जांच की गई जांच में जमीन नत्थूराम पिता गौतम जाति सतनामी निवासी पोरथा से खरीदी गई है। जबकि उक्त भूमि को सड़क से 500 मीटर दूर बताकर रजिस्ट्री करायी गई है और जगदीश बंसल द्वारा काबिज भूमि राष्ट्रीय राज मार्ग से लगा हुआ है।

एसडीएम ने लिखा है कि स्टाम्प ड्यूटी की चोरी करने के उद्देश्य से झूठा शपथ पत्र प्रस्तुत किया गया । श्री बर्मन ने उक्त भूमि के संबंध में लिखा है कि तहसीलदार सक्ती ने अपने प्रतिवेदन में बताया है कि उक्त भूमि शासकीय पट्टे की दी गई भूमि है और शासकीय पट्टे की भूमि विक्रय की अनुमति नहीं दी जा सकती न ही विक्रय की जा सकती है। ग्राम पंचायत पोरथा के आश्रित ग्राम डोगिया स्थित भूमि शासकीय मद पर दर्ज है। दस्तावेजों पर कूट रचना कर जगदीश बंसल द्वारा नामांतरण कराया गया है ।

स्टांप वेंडर होकर की गलती

एसडीएम इंद्रजीत बर्मन ने जगदीश बंसल को लिखा है कि आपका व्यवसाय स्टाम्प वेंडर का है अर्थात् आपको जमीन खरीदी बिक्री एवं स्टाम्प ड्यूटी के संबंध में पर्याप्त जानकारी है, डोंगिया की जमीन की रजिस्ट्री कराने व स्टाम्प ड्यूटी बचाने के लिए गलत जानकारी दी गई है इससे शासन को आर्थिक नुकसान हुआ है ।

सब्जी मार्केट में भी अवैध कब्जा

एसडीएम कोर्ट से जगदीश बंसल को दी गई नोटिस में लिखा है कि मरघट भूमि के सीमांकन के पूर्व भूमि स्वामी का हक बताकर जगदीश बंसल द्वारा नगर पालिका परिषद को सब्जी मंडी को हटाने के लिये आवेदन दिया था जिसमें वर्तमान में सब्जी मंडी संचालित है खसरा नं. 1213 के जांच एवं सीमांकन के दौरान यह बात स्पष्ट हो गई कि उक्त भूमि शासन की है जो कि मरघट भूमि के नाम पर दर्ज है । जबकि उसी भूमि को जगदीश बंसल द्वारा षडयंत्र कर कब्जा करने की नियत से नपा को नोटिस दी गई थी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Sakti

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×