--Advertisement--

रामू- रिक्शा चलाते

सक्ती अकलतरा बाराद्वार बलौदा डभरा मालखरौदा ...

Danik Bhaskar | Jan 15, 2018, 03:00 AM IST
सक्ती

रामू- रिक्शा चलाते हो क्या भाई? श्यामू- हां जी। रामु- पैसे के लिए? श्यामू- नहीं भाई... शौक है बस। खाना भी हजम हो जाता है और शहर भी घूम लेते है।