--Advertisement--

सक्ती अकलतरा बाराद्वार बलोदा

सक्ती अकलतरा बाराद्वार बलोदा डभरा मालखरौदा ...

Danik Bhaskar | Jan 09, 2018, 03:01 AM IST
सक्ती
ग्राहक- भाई साहब, इस कपड़े का क्या रेट है? दुकानदार- 50 रुपये मीटर। ग्राहक- 40 रुपये मीटर देना है? दुकानदार- साहब, इतना तो घर में पड़ता है। ग्राहक- अच्छा तो हम आपके घर से ले लेंगे।

हम अपनी समस्याओं को उसी सोच से नहीं सुलझा सकते जिस सोच से उनका जन्म हुआ होता है|

-अल्बर्ट आइंस्टीन