• Home
  • Chhattisgarh News
  • Sakti News
  • रामू ने नाई की दुकान खोली, एक दिन पप्पू शेव कराने आया। रामू- मूंछ रखनी है? पप्पू- हां। रामू (मूंछ काट कर)- ले रख ले जहां रखनी है।
--Advertisement--

रामू ने नाई की दुकान खोली, एक दिन पप्पू शेव कराने आया। रामू- मूंछ रखनी है? पप्पू- हां। रामू (मूंछ काट कर)- ले रख ले जहां रखनी है।

सक्ती अकलतरा बाराद्वार बलौदा पामगढ़ शिवरीनारायण...

Danik Bhaskar | Mar 14, 2018, 04:30 AM IST
सक्ती

रामू ने नाई की दुकान खोली, एक दिन पप्पू शेव कराने आया। रामू- मूंछ रखनी है? पप्पू- हां। रामू (मूंछ काट कर)- ले रख ले जहां रखनी है।