• Hindi News
  • Chhatisgarh
  • Sakti
  • रामू ने नाई की दुकान खोली, एक दिन पप्पू शेव कराने आया। रामू मूंछ रखनी है? पप्पू हां। रामू (मूंछ काट कर) ले रख ले जहां रखनी है।

रामू ने नाई की दुकान खोली, एक दिन पप्पू शेव कराने आया। रामू- मूंछ रखनी है? पप्पू- हां। रामू (मूंछ काट कर)- ले रख ले जहां रखनी है। / रामू ने नाई की दुकान खोली, एक दिन पप्पू शेव कराने आया। रामू- मूंछ रखनी है? पप्पू- हां। रामू (मूंछ काट कर)- ले रख ले जहां रखनी है।

Bhaskar News Network

Mar 14, 2018, 04:30 AM IST

Sakti News - सक्ती अकलतरा बाराद्वार बलौदा पामगढ़ शिवरीनारायण...

रामू ने नाई की दुकान खोली, एक दिन पप्पू शेव कराने आया। रामू- मूंछ रखनी है? पप्पू- हां। रामू (मूंछ काट कर)- ले रख ले जहां रखनी है।
सक्ती

रामू ने नाई की दुकान खोली, एक दिन पप्पू शेव कराने आया। रामू- मूंछ रखनी है? पप्पू- हां। रामू (मूंछ काट कर)- ले रख ले जहां रखनी है।

X
रामू ने नाई की दुकान खोली, एक दिन पप्पू शेव कराने आया। रामू- मूंछ रखनी है? पप्पू- हां। रामू (मूंछ काट कर)- ले रख ले जहां रखनी है।
COMMENT