• Home
  • Chhattisgarh News
  • Sakti News
  • गुरु शिष्य की परंपरा रामानंदाचार्य की ही देन : वैष्णव
--Advertisement--

गुरु शिष्य की परंपरा रामानंदाचार्य की ही देन : वैष्णव

छपोरा-सक्ती | ग्रापं खेमड़ा में रामानंदाचार्य जयंती मनाई गई। इस अवसर पर गुरु शिष्य सम्मेलन का भी आयोजन किया गया।...

Danik Bhaskar | Jan 12, 2018, 02:50 PM IST
छपोरा-सक्ती | ग्रापं खेमड़ा में रामानंदाचार्य जयंती मनाई गई। इस अवसर पर गुरु शिष्य सम्मेलन का भी आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि सक्ती क्षेत्र के अध्यक्ष चमरूदास वैष्णव थे। विशिष्ट अतिथि भाजपा मंडल अध्यक्ष मालखरौदा भोजराम साहू थे। मुख्य अतिथि चमरूदास वैष्णव ने कहा कि रामानंदाचार्य हिंदू धर्म के धरोहर थे, उनके राह व वाणी को मनुष्य यदि अपना ले तो उनका पूरा जीवन आनंदमय हो जाता है। उन्हें हमेशा हिंदुओं की एकता की चिंता रहती थी। भारत में गुरू शिष्य की परंपरा उनकी ही देन है जिसे अब सभी निभा रहे है। इस मौके पर हीरादास वैष्णव प्रदेश प्रवक्ता, बालेश्वर वैष्णव, मनहरण वैष्णव, करमदास वैष्णव, मंच संचालक चेतन दास वैष्णव, सरिता वैष्णव महिला संगठन सचिव, गीता साहू सरपंच खेमड़ा, जनपद सदस्य संतोषी सिदार सहित बड़ी संख्या में समाज के पदाधिकारी व नागरिक उपस्थित थे।