Hindi News »Chhatisgarh »Saraipali» जलस्तर को बचाए रखने अब तक कोई योजना नहीं, 13 बांधों में से 10 की स्थिति चिंताजनक

जलस्तर को बचाए रखने अब तक कोई योजना नहीं, 13 बांधों में से 10 की स्थिति चिंताजनक

सराईपाली| जलस्तर को लेकर धीरे-धीरे गंभीर बनती जा रही है। क्षेत्र के 13 में से 3 बांधों को छोड़कर नवंबर में ही पानी...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 08, 2018, 02:55 AM IST

जलस्तर को बचाए रखने अब तक कोई योजना नहीं, 13 बांधों में से 10 की स्थिति चिंताजनक
सराईपाली| जलस्तर को लेकर धीरे-धीरे गंभीर बनती जा रही है। क्षेत्र के 13 में से 3 बांधों को छोड़कर नवंबर में ही पानी लगभग शून्य से 20 प्रतिशत बचा था। 3 बांधों में पानी पर्याप्त होने के कारण गर्मी की फसल के लिए इससे जुड़े100-100 एकड़ के किसानों को पानी दिया जाएगा। इस बार औसत बारिश से कम होने के कारण मोखापुटका बांध में 22 प्रतिशत पानी, महलपारा में 13 प्रतिशत, थीपापानी में 10 प्रतिशत, पैकिन में 9 प्रतिशत, छिर्रापाली में 37 प्रतिशत, लमकेनी में 1.8 प्रतिशत, राजाडीह में .4 प्रतिशत और कोसमपाली और बंदलीपाली में पानी नही है। हालांकि सिंचाई विभाग नहर के नीचे के पानी को डेथ लेवल मानता है। पहाड़ी क्षेत्र में बने बांध घोरघाटी सिंचाई विभाग नवंबर में 88 प्रतिशत पानी, सिंगबहाल में 68 प्रतिशत, कालीदरहा में 80 प्रतिशत पानी होने की बात कह रहा है जबकि बांध में पानी लगभग समाप्ति की ओर है।

डायवर्सन से 3350 एकड़ में होगी सिंचाई

नालों में जो डायवर्सन बन रहे हैं उनसे अंचल के किसानों को लाभ मिलेगा। देवगुड़ी 250 एकड़, अर्तुंडा 300 एकड़, बोईरमाल 400 एकड़, दर्राभांठा 380 एकड़, कटगी 400 एकड़, दीवानपाली 560 एकड़, बेंदरीनाला 450 एकड़, अमरकोट 600 एकड़, कनपला 285 एकड़ में सिंचित हो सकेगा।

अधिग्रहित जमीनों का मुआवजा समस्या

बांध के लिए जमीन अधिग्रहित की गई मगर मुआवजा नहीं मिला है। जिसे लेकर किसान परेशान हैं कि जमीन भी गई और पैसा भी नही मिल रहा है। सिंगबहाल के 16 गांव में 7 गांव का एवार्ड पारित हो गया है जिसका भुगतान भी शीघ्र होने का दावा किया जा रहा है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |
Web Title: जलस्तर को बचाए रखने अब तक कोई योजना नहीं, 13 बांधों में से 10 की स्थिति चिंताजनक
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Saraipali

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×