सराईपाली

  • Home
  • Chhattisgarh News
  • Saraipali News
  • 13 आंबा कार्यकर्ता और सहायिका बर्खास्त, फिर भी आंदोलन जारी
--Advertisement--

13 आंबा कार्यकर्ता और सहायिका बर्खास्त, फिर भी आंदोलन जारी

लंबर. आंदोलन करते हुए आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका। भास्कर न्यूज|लंबर (सराईपाली) आंदोलन कर रहे आंगनबाड़ी...

Danik Bhaskar

Apr 04, 2018, 03:00 AM IST
लंबर. आंदोलन करते हुए आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका।

भास्कर न्यूज|लंबर (सराईपाली)

आंदोलन कर रहे आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं व सहायिकाओं में से अब तक 13 को बर्खास्त किया जा चुका है। महिला बाल विकास परियोजना अधिकारी चन्द्रहास नाग ने बताया 3 सहायिका व कार्यकर्ताओं इस कार्रवाई को देखते हुए काम पर वापस लौट आए है।

अपनी छह सूत्रीय मांगों को लेकर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिकाओं के हड़ताल में चले जाने से ब्लॉक के सभी केंद्रों में ताला लगा था। कार्यकर्ता और सहायिका शासकीय कर्मचारी घोषित कर 18 हजार रुपए तक वेतन, रिटायर होने पर कार्यकर्ताओं को 3 लाख रुपए और सहायिकाओं को 1 लाख रुपए देने, सुपरवाइजर बनाते समय उम्र की सीमा हटाई जाए व सीधी पदोन्नति दी जाए, मिनी आंगनबाड़ी को पूर्ण आंगनबाड़ी बनाया, एसएनएस कोड की वैधता खत्म की जाए व मृत्यु उपरांत 50 हजार देने की मांग कर रहे हैं। प्राप्त जानकारी अनुसार बसना ब्लॉक के 314 मुख्य व 28 मिनी आंगनबाड़ी केंद्रों के कार्यकर्ता और सहायिका को जिला कार्यालय व ब्लॉक कार्यालय द्वारा 15 मार्च तक कार्य मे लौटने के लिए नोटिस दिया गया था, लेकिन कोई भी काम पर नहीं लौटे। हड़ताल की वजह से से आंगनबाड़ी केंद्रों में रेडी टू ईट, बच्चों को अमृत दूध, गर्भवती माताओं, शिशुवती और बालिकाओं को मिलने वाला पोषक आहार वितरण नहीं किया जा रहा है। कलेक्टर द्वारा सभी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं व सहायिकाओं को हड़ताल में रहने से भोजन के अधिकार का उल्लंघन होने पर अनुशासनात्मक कार्रवाई किए जाने की भी सूचना दी गई, लेकिन इसका कोई असर नहीं हुआ।

Click to listen..