• Home
  • Chhattisgarh News
  • Saraipali News
  • परसदा के सरपंच-सचिव के खिलाफ लापरवाही की जांच पूरी, कार्रवाई शून्य
--Advertisement--

परसदा के सरपंच-सचिव के खिलाफ लापरवाही की जांच पूरी, कार्रवाई शून्य

कलेक्टर जनदर्शन, लोक सुराज और जनपद पंचायत के सीईओ को अनेक शिकायत किए जाने के बाद भी ग्राम पंचायत परसदा के...

Danik Bhaskar | Feb 21, 2018, 04:05 AM IST
कलेक्टर जनदर्शन, लोक सुराज और जनपद पंचायत के सीईओ को अनेक शिकायत किए जाने के बाद भी ग्राम पंचायत परसदा के सरपंच-सचिव नदारद हैं। दोनों के खिलाफ कलेक्टर जनदर्शन में 18 अक्टूबर 2016, 20 जून 2017 और 24 अक्टूबर 2017 को शिकायत की गई। शिकायत पर जांच के लिए 30 नवंबर को अधिकारी तो आए, लेकिन सरपंच सब्या नायक और सचिव नंदसाय बरिहा की अनुपस्थित के चलते जांच नहीं हो पाई। हालांकि जांच अधिकारी जनपद पंचायत के जीडी सोनवानी ने उपस्थित पंचों और ग्रामीणों से बयान लिया। लेकिन उनके खिलाफ अब तक कार्रवाई शून्य है।

पंचों ने अपने बयान में कहा कि ग्राम पंचायत की बैठक दो वर्ष से नहीं हुई है। यही नहीं सामान्य प्रशासन समिति के सदस्यों के फर्जी हस्ताक्षर से राशि का आहरण किया जा रहा है। यही नहीं आय व्यय की जानकारी भी नहीं दी जाती। पंचों का मानदेय 1200 रुपए केवल एक बार ही दिया गया है। यही नहीं निर्माण कार्यों के फर्जी बिल वाउचर लगाकर राशि आहरित की जाती है। ग्रामीणों ने जांच अधिकारी को बताया कि प्रत्येक माह के 19 तारीख को पंचायत की बैठक रखने का प्रस्ताव पारित किया गया था, लेकिन बैठक में सरपंच सचिव खुद नदारद रहते हैं। यही नहीं ग्रामीणों ने खुद से खर्च कर शौचालय का निर्माण ताे करा लिया, लेकिन उन्हें भुगतान नहीं किया जा रहा है। ग्राम पंचायत के पंच अशोक चौधरी सहित अन्य ने प्रशासन से मामले में जांच कर तत्काल कार्रवाई की मांग की है।