Hindi News »Chhatisgarh »Saraipali» शहर के बीच सड़कों की मरम्मत करने की मांग

शहर के बीच सड़कों की मरम्मत करने की मांग

शहर के मध्य की सड़क जर्जर हो गई है 4 वर्षों से जर्जर सड़क नगर के लोग भोग रहे है। अब यह गड्ढो और धूल से समस्या बन गई है।...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 26, 2018, 05:30 AM IST

शहर के बीच सड़कों की मरम्मत करने की मांग
शहर के मध्य की सड़क जर्जर हो गई है 4 वर्षों से जर्जर सड़क नगर के लोग भोग रहे है। अब यह गड्ढो और धूल से समस्या बन गई है। इन समस्या को हल करने के लिए प्रदेश महामंत्री कांग्रेस जन समस्या निवारण एवं पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के नरेंद्र कुमार यादव राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री के नाम का ज्ञापन एसडीएम को देते हुए मांग की है कि नगरपालिका क्षेत्र के राष्ट्रीय राजमार्ग 53 की सड़कें इन दिनों रख रखाव व सुधार के अभाव में जर्जर हो गई है, घंटेश्वरी मंदिर से जामबहलीन मंदिर तक झिलमिला से बैतारी तक की सड़कें अत्यन्त जर्जर है, लगभग 7 किलोमीटर की सड़क के गड्ढों को भरने के साथ डामरीकरण करने की जरूरत है।

टाउन हाल झिलमिला (पेट्रोल पंप) के पास, राम मंदिर से मील पत्थर चौक के पास सड़क में जान लेवा गड्ढे हो गए हैं, जिससे दुर्घटना की आशंका बढ़ती जा रही है। वाहन चालकों द्वारा गड्ढे को बचाने के चक्कर में अपने वाहनों को इधर-उधर काटने के कारण आम नागरिक दुर्घटना के शिकार हो रहें हैं, सड़क के साइड सोल्डर में मुरम नहीं होने से दुपहिया वाहन चालक फिसल कर गिर रहे है।

जब से बायपास सड़क प्रारंभ हुआ है, शहर के अंदर के सड़कों को ध्यान देने वाला कोई नहीं है। अविलंब सुधार नहीं होने पर कभी भी कोई गंभीर दुर्घटना से इंकार नहीं किया जा सकता। शासन प्रशासन आम जनता की सुविधा का ध्यान रखे ताकि आवागमन में सुविधा हो, रात्रि के समय भारी वाहनों का प्रवेश भी बंद कराने के लिए शासन आवश्यक निर्देश दे।

सराईपाली| शहर के अंदर की सड़कें जर्जर होने से लोग परेशान है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Saraipali News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: शहर के बीच सड़कों की मरम्मत करने की मांग
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Saraipali

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×