• Home
  • Chhattisgarh News
  • Saraipali News
  • पर्यावरण संरक्षण करना छोड़ तालाब के किनारे नगर पालिका बना रही दुकान
--Advertisement--

पर्यावरण संरक्षण करना छोड़ तालाब के किनारे नगर पालिका बना रही दुकान

सराईपाली| नगर के तालाबों की स्थिति बेहद खराब है, पालिका तालाबों के संरक्षण के लिए कोई प्रयास नहीं कर रहा है। तालाब...

Danik Bhaskar | Jun 04, 2018, 03:30 AM IST
सराईपाली| नगर के तालाबों की स्थिति बेहद खराब है, पालिका तालाबों के संरक्षण के लिए कोई प्रयास नहीं कर रहा है। तालाब और डबरी को पाटकर टाउनहाल, उडियापारा में सामुदायिक भवन बनाने के साथ, जोगी तालाब को सड़क और पालिका कार्यालय की ओर पाटे जाने का विरोध नागरिक पहले ही कर चुके हैं। अब तालाब के पाटे गए पार में पालिका दुकान बना रही है। इस बात को पिछले दिनों मुख्यमंत्री के आगमन के दौरान नागरिकों ने विधायक की मौजूदगी में उठाया था।

पूर्व कलेक्टर ने की थी मरीन ड्राइव बनाने की घोषणा: यहां के जोगी तालाब वर्ष 2016 का विधायक रामलाल चौहान की पहल के बाद कलेक्टर उमेश अग्रवाल, एसडीएम गौरव कुमार सिंह के निर्देश के बाद गहरीकरण कराया था, जो कि अधूरा ही रहा। इसी दौरान तत्कालीन कलेक्टर ने निरीक्षण के दौरान इसे मेरीन ड्राइव के रूप विकसित करने की घोषणा भी की थी।

जोगी तालाब का खसरा नंबर 197 और रकबा 17.75 एकड़ है। इसे पाटकर कुछ हिस्से में नगर पालिका कार्यालय और सड़क की ओर पाटकर दुकानों के साथ यहीं पर सार्वजनिक शौचालय भी बनाया गया है। जो कि तालाब के सरंक्षण की मूल अवधारणा के विपरीत हैं। वर्तमान में यहां पर50 साल पहले बनी पचरी भी है। उसके अनुसार तालाब में पाटे गए हिस्से की जानकारी मिल सकती है। साल 2017 में प्रयास संस्था ने 150 पौधों का रोपण किया था, जिसे गर्मी के समय पानी देेने का वादा कर पालिका ने किया था। लेकिन समतलीकरण के नाम पर इन पौधों को उखाड़ दिया गया। एसडीएम नुपूर राशि पन्ना का कहना है कि तालाब में निर्माण का पूर्व में स्टे लगाया गया था, यह उन्हें पता नहीं है। वे पूरे मामले की जानकारी लेंगी।