Hindi News »Chhatisgarh »Sarsiwa» स्वास्थ्य संयोजकों की हड़ताल नहीं हो पा रहा लोगों का इलाज

स्वास्थ्य संयोजकों की हड़ताल नहीं हो पा रहा लोगों का इलाज

लंबर (सराईपाली)| ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजकों की हड़ताल से बसना ब्लाक 41 उपस्वास्थ्य केंद्रों में ताला लटक रहा है। इन...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 05, 2018, 03:40 AM IST

लंबर (सराईपाली)| ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजकों की हड़ताल से बसना ब्लाक 41 उपस्वास्थ्य केंद्रों में ताला लटक रहा है। इन कर्मचारियों की हड़ताल से ग्रामीण क्षेत्रों में सर्दी, खांसी, बुखार, उल्टी दस्त, गर्भवती माताओं की जांच व आदि रोगों का उपचार नहीं हो पा रहा है। इनके साथ ही साथ परिवार कल्याण के कार्यक्रम, मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना, मिशन इंद्रधनुष अभियान जैसे 28 राष्ट्रीय कार्यक्रम पूरी तरह से प्रभावित हो रहे हैं। वहीं मरीजों को इलाज कराने के लिए लंबी दूरी 40-50 किमी की दूरी तय करनी पड़ रही है।

स्वास्थ्य विभाग के राष्ट्रीय मिशन के कर्मचारी भी हड़ताल पर चले जाने से व्यवस्था और चरमरा गई है। स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी लोगों को स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया नहीं करा पा रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्रों के उपस्वास्थ्य केंद्रों में कर्मचारी नहीं होने के कारण लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इलाज के लिए मरीज व इनके परिजन इधर-उधर भटक रहे हैं, जिसका ज्वलंत उदाहरण शनिवार को लम्बर उपस्वास्थ्य केंद्र में देखने को मिला।

ग्राम माधोपाली की एक गर्भवतियों को उनके परिजन डिलीवरी कराने के लिए लंबर उपस्वास्थ्य केंद्र लेकर आए लेकिन उपस्वास्थ्य केंद्र में ताला लटकने के कारण आनन-फानन में सरसीवां ले जाना पड़ा। ज्ञात हो कि ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजक 1 अगस्त से 4 सूत्रीय मांगों को लेकर बेमियादी हड़ताल पर है, कर्मचारियों ने इसके पूर्व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को हड़ताल पर जाने की चेतावनी भी दी थी, इसके बाद भी शासन ने इन कर्मचारियों की मांगों पर विचार नही किया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Sarsiwa

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×