Hindi News »Chhatisgarh »Sirri» रामायण कथा के एक-एक शब्द में मंत्र की ताकत है : अजय चंद्राकर

रामायण कथा के एक-एक शब्द में मंत्र की ताकत है : अजय चंद्राकर

रामायण की कथा दुनिया में सबसे ज्यादा पढ़ने वाला छपने वाला ग्रंथ रामचरित मानस है। नदी के किनारे वाल्मीकि के मुख से...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 14, 2018, 03:20 AM IST

रामायण की कथा दुनिया में सबसे ज्यादा पढ़ने वाला छपने वाला ग्रंथ रामचरित मानस है। नदी के किनारे वाल्मीकि के मुख से कविता फूटी है। रामनाम के प्रभाव से आदि कवि बने और रामनाम की रचना की। जब से अवधी बोली आई तब से समाज में आदर्श प्रस्तुत किए। समाज के प्रति हमारी भूमिका क्या होनी चाहिए हम रामायण पढ़ते सुनते हैं।

उक्त बातें छग शासन के केबिनेट मंत्री अजय चन्द्राकर ने ग्राम अछोटी में आयोजित मानसगान सम्मेलन के दौरान कही। विभिन्न नवनिर्मित भवनों का लोकार्पण के बाद उन्होंने कहा कि रामायण का अर्थ लोकमंगल की कामना ही असली है रामचरित मानस में। बजट आए भाषण में कोई निराश हताश है कोई ठीक है बोलता है। दुनिया में कोई भी क्षेत्र में रावण का विचार पैदा करते हैं तो असफलता मिलेगी ही। छग कौशिल्या की जन्म भूमि है इस कारण हम लोग भांचा के पांव पड़ते हैं। भगवान को राज्य मिला वह छग ही मिला कौशिल्या के कोई भाई नहीं था। दण्डकारण छग का पुराना नाम, रावण वध की योजना छग में ही बना है। केबिनेट मंत्री ने अछोटी और कोड़ेबोड़ में पहुंचकर मानस सम्मेलन के कार्यक्रम में भाग लेते हुए दोना गांव में लोकार्पण किया।

कोड़ेबोड़ और अछोटी में मंत्री चन्द्राकर ने सुनाएं राम की कथा

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Sirri

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×