• Hindi News
  • Chhatisgarh
  • Sirri
  • विशेषज्ञों ने कहा- नशामुक्ति के लिए मजबूत इरादा जरूरी है
--Advertisement--

विशेषज्ञों ने कहा- नशामुक्ति के लिए मजबूत इरादा जरूरी है

पंडित जवाहर लाल नेहरू मेमोरियल मेडिकल काॅलेज के मनोचिकित्सा विभाग एवं सेंट्रल इंडिया इंस्टीट्यूट आॅफ मेंटल...

Dainik Bhaskar

Mar 07, 2018, 04:00 AM IST
विशेषज्ञों ने कहा- नशामुक्ति के लिए मजबूत इरादा जरूरी है
पंडित जवाहर लाल नेहरू मेमोरियल मेडिकल काॅलेज के मनोचिकित्सा विभाग एवं सेंट्रल इंडिया इंस्टीट्यूट आॅफ मेंटल हेल्थ एंड न्यूरो साइंसेस द्व्रारा कुरूद ब्लाॅक में हर 15 दिन में दो नशामुक्ति शिविर लगाया जा रहा है। मनोरोग विशेषज्ञ डाॅ. एमके साहू और जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. डीके तुर्रे ने विश्राम भवन में प्रेस कांफ्रेंस कर कहा कि नशा और उससे संबंधित समस्याओं के मूल्यांकन, जागरूकता एवं पुनर्वास के लिए नशामुक्ति शिविर लगाया जा रहा है। विशेषज्ञों ने कहा कि नशामुक्ति के लिए व्यक्ति के अंदर खुद दृढ़इच्छा होनी चाहिए कि नशापान छोड़ना है। अगर इरादा मजबूत नहीं है तो नशा छोड़ पाना संभव नहीं है। इस मौके पर कुरूद बीएमओ डाॅ. जेपी दीवान भी मौजूद थे।

नशे से पीड़ित मिले 97 लोग : शिविरों में लगभग 157 लोगो की जांच की गई, जिसमें 97 लोग नशे से पीड़ित मिले और लगभग 50 लोग अन्य मानसिक रोग से पीड़ित पाए गए। इनमें से 25 लोगों को चिकित्सा के लिए मेडिकल काॅलेज रायपुर भेजा गया। यहां 3 लोग नशे का उपचार एवं 3 लोग अन्य मनोरोग बीमारी का इलाज करा रहे हैं। आगे भी निशुल्क जांच, परामर्श शिविर जारी रहेगा। नशा उन्मूलन शिविर 10 मार्च को ग्राम जी-जामगांव, 24 मार्च को बड़ीकरेली, 14 अप्रैल को ग्राम भेंड्री में लगाया जाएगा।

प्रेसवार्ता में नशा मुक्ति अभियान की जानकारी देते।

पायलट प्रोजेक्ट के तहत चला रहे अभियान

विशेषज्ञों ने कहा कि कुरूद विधानसभा क्षेत्र में पायलट प्रोजेक्ट के रूप में व्यापक नशामुक्ति अभियान चलाया जा रहा है। इसके सकारात्मक परिणाम भी अब दिखने लगे हैं। नशा उन्मूलन कार्यक्रम के अंतर्गत निशुल्क चिकित्सा शिविर भी लगाया जा रहा है। कुरूद विधानसभा क्षेत्र में 10 अक्टूबर 2017 को मानसिक स्वास्थ्य दिवस पर नशा मुक्ति अभियान का शुभारंभ सिने अदाकारा एवं सामाजिक कार्यकर्ता अनुपम खेर ने किया था। 9 दिसंबर 2017 को कुरूद विधानसभा क्षेत्र में ग्राम भखारा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र से शुरू की गई। यहां अब हर 15 दिनों के बीच दो नशा मुक्ति कैंप का आयोजन किया जा रहा है। ग्राम परखंदा, नारी और ग्राम सिर्री प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भी दो निशुल्क कैंपों का आयोजन किया गया।

X
विशेषज्ञों ने कहा- नशामुक्ति के लिए मजबूत इरादा जरूरी है
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..