--Advertisement--

शहीद मिथिलेश की प्रतिमा पर चढ़ाए फूल, दी श्रद्धांजलि

राजनांदगांव के मदनवाड़ा में शहीद हुए ग्राम नवापारा के जवान मिथिलेश साहू की 9वीं पुण्यतिथि गुरुवार को गांव के शहीद...

Danik Bhaskar | Jul 13, 2018, 03:30 AM IST
राजनांदगांव के मदनवाड़ा में शहीद हुए ग्राम नवापारा के जवान मिथिलेश साहू की 9वीं पुण्यतिथि गुरुवार को गांव के शहीद स्मारक के पास मनाई गई। कार्यक्रम के प्रमुख अतिथि द्वय भाटापारा विधायक शिवरतन शर्मा एवं बलौदा बाजार विधायक जनकराम वर्मा ने शहीद मिथिलेश की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। सुहेला पुलिस के जवानों ने शहीद की प्रतिमा को सलामी दी। इस मौके पर कार्यक्रम स्थल शहीद मिथिलेश अमर रहे, भारत माता की जय के गगनभेदी नारों से गूंज उठा।

पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष लक्ष्मी वर्मा, पूर्व जनपद अध्यक्ष अदिति बघमार, शहीद के पिता बंशीलाल साहू, नवापारा सरपंच डाॅ. दौलत पाल सहित बड़ी संख्या में ग्रामीणों ने भी शहीद जवान मिथिलेश साहू को श्रद्धांजलि दी। कार्यक्रम में विधायक जनकराम वर्मा ने जय जवान-जय किसान का नारा लगाते हुए कहा कि आज न जवान सुरक्षित हैं और न किसान। लगातार हो रही नक्सली हमले से हमारे जवान शहीद हो रहे हैं। उनकी सुरक्षा के लिए हमें प्रयास करना होगा। इस अवसर पर नवापारा के कन्हैयालाल शर्मा, पंच धनेश देवांगन, विशेषर पाल, जैकब याकूब, केजू कुर्रे , भानुप्रताप वर्मा, भुवनेश्वर वर्मा, धन्नु देवांगन, भाटापारा एसडीओपी केबी द्विवेदी, सुहेला थाना प्रभारी आरएस सिंह, कुमारी देवांगन, अमरीका यादव, माखन देवांगन, भागवत वर्मा, रतिराम साहू, कुंजराम यदु ,संतोष साहू, ओम देवांगन समेत विभिन्न स्कूलों के छात्र-छात्राओं सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन शिक्षक उत्तम साहू एवं आभार व्यक्त शहीद के पिता बंशीलाल साहू ने किया।

कार्यक्रम

स्मारक के पास शहीद अमर रहे, भारत माता की जय के नारे लगाकर जवानों ने दी सलामी

सुहेला. शहीद मिथिलेश को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए विधायक शिवरतन शर्मा।

जल्द नक्सलवाद से मुक्त होगा छग: शिवरतन

विधायक शिवरतन शर्मा ने कहा कि राजनांदगांव के तत्कालीन पुलिस अधीक्षक विनोद चौबे के साथ शहीद हुए 29 जवानों में नवापारा गांव का बेटा मिथिलेश भी शामिल था। नक्सलवाद से केवल छत्तीसगढ़ ही नहीं बल्कि देश के 12 राज्य प्रभावित हैं। उन्होंने कहा प्रदेश में रमन सरकार बनने के बाद नक्सलवाद के खात्मे के लिए प्रयास शुरू किया गया, जिसके कारण आज सरगुजा संभाग नक्सलवाद से मुक्त है। ऑपरेशन ऑल आउट का जिक्र करते हुए कहा कि मुझे विश्वास है कि जल्द छत्तीसगढ़ में नक्सलवाद का पूरी तरह सफाया होगा।