• Home
  • Chhattisgarh News
  • Sukma
  • 3 सड़कों को 8-10 जगह काटा नक्सलियों ने, स्थानीय बेरोजगारों को एनएमडीसी में नौकरी देने की मांग की
--Advertisement--

3 सड़कों को 8-10 जगह काटा नक्सलियों ने, स्थानीय बेरोजगारों को एनएमडीसी में नौकरी देने की मांग की

नक्सलियों ने एक बार फिर से ग्रामीण क्षेत्रों की सड़कों को निशाना बनाया है। समेली से बुरगुम जाने वाली सड़क को 8...

Danik Bhaskar | Feb 07, 2018, 02:30 AM IST
नक्सलियों ने एक बार फिर से ग्रामीण क्षेत्रों की सड़कों को निशाना बनाया है। समेली से बुरगुम जाने वाली सड़क को 8 स्थानों पर खोद दिया है जबकि अरनपुर मुख्य मार्ग से पेड़का तनेली जाने वाली सड़क को 10 जगह खोदकर बंद कर दिया है। सड़कें खोदे जाने से शिक्षक स्कूल तक नहीं पहुंच पाए वहीं बच्चे भी स्कूल नहीं आए।

इसके अलावा कटेकल्याण ब्लाक के बड़ेगुडरा से टेटम जाने वाली सड़क को नक्सलियों ने 4 जगह काट डाला जबकि एक स्थान पर पेड़ गिराकर मार्ग बंद कर दिया है। गोंडी भाषा में लिखे गए इन पोस्टरों में स्थानीय बेरोजगारों को एनएमडीसी में काम देने की मांग की है। सड़क बाधित होने से बर्रेम संकुल के 8 स्कूल व अरनपुर संकुल के 2 स्कूलों में तालाबंदी रही जबकि दूसरी ओर नक्सलियों ने नेड़नार सड़क पर जेसीबी में अागजनी भी की ।

एडिशनल एसपी जीएन बघेल के मुताबिक पाइप लाइन की मरम्मत के लिए मंगलवार को कुआकोंडा, पालनार, समेली सहित सुकमा जिले से जवान निकले हुए हैं। वारदात को सुकमा जिले में अंजाम दिया गया है। नक्सलियों द्वारा खोदी गई सड़कों में अरनपुर से पेड़का मार्ग को बहाल करवा दिया गया है। अन्य सड़कों को दुरुस्त कर आवागमन बहाल करने भी पार्टी रवाना होगी ।

गड़मिरी और धनिकरका के बीच सड़क पर नक्सलियों ने बांधा बैनर

नकुलनार. जगह-जगह लगाए गए पोस्टरों में नक्सलियों ने स्थानीय बेरोजगारों को एनएमडीसी में नौकरी दिए जाने की वकालत की है।

अब सरकारी राशन भी गांव तक नहीं पहुंच सकेगा

ग्रामीणों ने बतया कि सड़क खोद दिए जाने से एम्बुलेंस से लेकर सरकारी राशन भी अब गांव तक नहीं पहुंच सकेगा। इसके लिए भी अब ग्रामीणों को 10 से 15 किलोमीटर पैदल चलकर राशन लेने समेली तक जाना होगा। गडमिरी सड़क पर पोस्टर व बैनर लगाकर नक्सलियों ने एस्सार व एनमडीसी का विरोध किया है। गोंडी भाषा में लिखे गए इन पोस्टरों में स्थानीय बेरोजगारों को एनएमडीसी में काम देने की मांग की है।

एस्सार पाइप लाइन को भी किया नक्सलियों ने क्षतिग्रस्त

गादीरास थाना के परिया गांव के पास एस्सार के पाइप लाइन को नक्सलियों ने क्षति पहुंचाई है। किरंदुल से विशाखापट्टनम तक लौह अयस्क ले जाने वाले पाइप लाइन को इससे पहले भी नक्सलियों ने निशाना बनाया है। सुधार कार्य को सुरक्षा देने कुआकोंडा और गादीरास से सुरक्षा बल को भेजा गया है। इससे एक दिन पहले सोमवार को नक्सलियों द्वारा पाइप लाइन को एक जगह पर काट दिया था जिससे पाइप लाइन से आयरन के सप्लाई बंद हो गई थी।

स्कूल नहीं खुल सके, न शिक्षक पहुंचे न बच्चे

नक्सलियों द्वारा इन मार्गों को बाधित किये जाने से सबसे ज्यादा असर स्कूलों पर पड़ा है। समेली से बुरगुम जाने वाली सड़क खोद दिए जाने से इस रास्ते में पड़ने वाले बर्रेम, बुरगुम, पूजरीपाल के स्कूल मंगलवार को नहीं खुल पाए । पेड़का-तनेली सड़क बंद होने से इस मार्ग के दो स्कूल बंद रहे । चार साल से बंद बड़ेगुडरा से टेटम सड़क पर किसी तरह बाइक के निकलने लायक जगह बची थी, लेकिन इस मार्ग पर अब आवाजाही पूरी तरह बंद हो गई है।

सड़क निर्माण में लगी जेसीबी मशीन को फूंका नक्सलियों ने

नकुलनार | कटेकल्याण थाना क्षेत्र के गाटम में नक्सली एक बार फिर से अपनी मौजूदगी दर्ज कराते हुए सुबह 11 बजे के आसपास जेसीबी मशीन में आग लगा दी। लखापाल से गदापाल तक बनने वाली सड़क के निर्माण में लगे वाहनों में नक्सलियों ने 30 जनवरी को आगजनी की थी जिससे यहां 7 वाहन जल गए थे। सड़क निर्माण कर रहे साहू एंड कुलकर्णी कंस्ट्रक्शन कंपनी के मुंशी गाटम निवासी मनोज की हत्या भी गत 3 फरवरी को नक्सलियों ने इसी सड़क निर्माण के विरोध में कर दी थी।