Hindi News »Chhatisgarh »Sukma» नक्सलियों ने िछंदगुर गांव के जिस सरपंच को मारा उनके परिवार के एक सदस्य को मिलेगी नौकरी

नक्सलियों ने िछंदगुर गांव के जिस सरपंच को मारा उनके परिवार के एक सदस्य को मिलेगी नौकरी

दरभा ब्लाक के कोलेंग से सटे छिंदगुर के सरपंच पंडरू की तीन दिनों पहले नक्सलियों ने हत्या कर दी थी। उसकी हत्या के बाद...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jan 09, 2018, 03:05 AM IST

दरभा ब्लाक के कोलेंग से सटे छिंदगुर के सरपंच पंडरू की तीन दिनों पहले नक्सलियों ने हत्या कर दी थी। उसकी हत्या के बाद डेमेज कंट्रोल में जुटी पुलिस ने मृतक के परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने की बात कही है। इसके अलावा इलाके में सक्रिय नक्सली लक्ष्मण, पांडू, मासो जैसे नेताओं के एनकाउंटर की प्लानिंग भी की जा रही है। पुलिस सूत्रों की मानें तो पंडरू की मौत को आईजी से लेकर टीआई स्तर के अफसरों ने गंभीरता से लिया है। उसके परिवार को हर स्तर पर राहत देने की कोशिश की जा रही है। विभाग के अफसरों की मानें तो नक्सली हिंसा में मारे जाने वाले व्यक्ति को जो मुआवजा दिया जाता है वो तो परिवार को दिलवाया ही जाएगा साथ ही साथ पंडरू के परिवार में से किसी एक व्यक्ति को पुलिस विभाग या परिवार के इच्छा के अनुसार दूसरे विभाग में नौकरी भी दी जाएगी।

आईजी विवेकानंद सिन्हा ने कहा कि वे खुद मामले को देख रहे हैं और वे जल्द ही छिंदगुर भी जाएंगे। डीआईजी सुंदरराज पी ने बताया कि पंडरू के परिवार को फौरी तौर पर राहत देने के लिए आर्थिक सहायता के साथ-साथ परिवार के एक सदस्य को नौकरी भी देने के प्रस्ताव पर काम चल रहा है।

उन्होंने बताया कि अभी फोर्स ओडिशा और सुकमा पुलिस के साथ मिलकर इस इलाके में ऑपरेशन चला रही है। आने वाले दिनों में इस इलाके में सक्रिय कुछ नक्सली नेताओं को टारगेट कर अभियान भी चलाया जाएगा। गौरतलब है कि पंडरू छिंदगुर में रहते हुए नक्सलियों के खिलाफ आवाज बुलंद कर गांव में विकास के सपने देख रहा था। वह लगातार इलाके में शिक्षा,स्वास्थ्य और सड़क के लिए काम कर रहा था।

कैंप से निकला तो जवानों ने कहा- सुबह जाना पर नहीं माना

इधर पंडरू की हत्या के मामले में एक नया खुलासा हुआ है। पुलिस सूत्रों के अनुसार घटना वाली शाम को पंडरू कोलेंग कैंप में ही था। सुरक्षागत कारणों से वह अपने घर पर रात नहीं काटता था लेकिन घटना वाले शाम को वह कालेंग कैंप से घर जाने की बात कहकर निकला। जब वह घर के लिए निकल रहा था तब उसे जवानों ने सुबह जाने की सलाह भी दी थी लेकिन पंडरू ने इस सलाह को दरकिनार कर दिया। इसके बाद शाम आठ बजे के करीब उनकी हत्या कर दी गई।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Sukma

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×