--Advertisement--

रात में घटनास्थल लौटकर शेष गाड़ियों को फूंका

सुकमा/दोरनापाल/कोंटा | सुकमा जिले में नक्सलियों ने अपनी पकड़ और दुस्साहस का नया उदाहरण पेश किया है। रविवार की सुबह...

Dainik Bhaskar

Feb 20, 2018, 03:25 AM IST
रात में घटनास्थल लौटकर शेष गाड़ियों को फूंका
सुकमा/दोरनापाल/कोंटा | सुकमा जिले में नक्सलियों ने अपनी पकड़ और दुस्साहस का नया उदाहरण पेश किया है। रविवार की सुबह से दोपहर तक जिस स्थान पर नक्सलियों ने फोर्स पर जमकर हमला बोला वहां रिइंफोर्समेंट पहुंचने के बाद वे पीछे तो हटे लेकिन उन्होंने घटना स्थल को छोड़ा नहीं था। शाम ढलते ही नक्सली दुबारा मौके पर पहुंचे और जिन गाड़ियों को वे दिन में नहीं जल पाए थे उन्हें रात में आग के हवाले कर दिया। एसपी अभिषेक मीणा ने बताया कि रविवार दोपहर नक्सलियों ने चार ट्रैक्टर और एक जेसीबी मशीन को आग के हवाले किया था। मुठभेड़ के बाद नक्सली रात में दोबारा यहां पहुंचे और बचे हुए चार अन्य ट्रैक्टरों को भी आग के हवाले कर दिया। उन्होंने कहा कि नक्सली यहा बुरकापाल हमले को दोहराना चाहते थे लेकिन जवानों की बहादुरी के कारण वे ऐसा नहीं कर पाए।

5 किमी पैदल चलकर कोबरा कमांडो पहुंचे मौके पर और साथियों को दिया बैकअप : जवानों पर नक्सली हमले की खबर मिलते ही रविवार की दोपहर 12:20 बजे भेज्जी कैंप में तैनात कोबरा 202 बटालियन के जवानों की टुकड़ी को रिइंफोर्समेंट के लिए रवाना किया। साढ़े पांच किमी पैदल चलकर लगभग सवा से डेढ़ घंटे में कोबरा जवानों की टुकड़ी दोपहर करीब पौने एक बजे मौके पर पहुंची। कोबरा जवानों ने नक्सलियों पर कई रॉकेट लांचर व यूबीजीएल दागे। रिइंफोर्समेंट पहुंचने के बाद नक्सलियों ने गोलीबारी बंद कर दी और पीछे हट गए।

दोरनापाल/कोंटा. रविवार की रात को घटनास्थल पर लौटकर नक्सलियों ने ट्रैक्टरों में आग लगा दी।

शहीद होने से पहले 5 यूबीजीएल दागे जवान मुकेश ने नक्सलियों पर

उन्होंने कहा कि एलारमड़गु नक्सली हमले में शहीद जवान कड़ती मुकेश ने शहीद होने से पहले नक्सलियों का डटकर मुकाबला किया। मुकेश ने शहादत से पहले पांच यूबीजीएल दागे थे। इससे पहले कि मुकेश छठवां यूबीजीएल नक्सलियों पर दागता लाल लड़ाकों की एक गोली मुकेश के सीने में जा लगी और मुकेश मौके पर ही शहीद हो गया। नक्सलियों ने मुकेश से हथियार लूटने की नाकाम कोशिश की और जवानों की गोली का शिकार हुए।

84 जवानों ने किया 200 से ज्यादा नक्सलियों का किया सामना

रविवार को एलारमडगु में सड़क निर्माण की सुरक्षा में तैनात डीआरजी के 44 और एसटीएफ 40 जवानों ने नक्सली हमले का मुंहतोड़ जवाब दिया। लगभग 700 मीटर के दायरे में फैले जवानों की टुकड़ी को नक्सलियों की बटालियन नंबर एक के दो सौ से ज्यादा लाल लड़ाकों ने तीन किमी का घेरा बनाकर ताबड़तोड़ गोलीबारी की। नक्सलियों ने 70 से ज्यादा जेबीएल (देसी बैरल ग्रेनेड लांचर) और कई यूबीजीएल दागे।

4 दर्जन नक्सलियों को निशाना बनाने का दावा

एसपी अभिषेक मीणा ने बताया कि मुठभेड़ के दौरान एसटीएफ जवानों ने एक दर्जन और डीआरजी जवानों ने तीन दर्जन से ज्यादा नक्सलियों को निशाना बनाया है। गोलीबारी के दौरान जवानों ने कई नक्सलियों को ढेर और घायल होते देखा है।

X
रात में घटनास्थल लौटकर शेष गाड़ियों को फूंका
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..