• Hindi News
  • Chhattisgarh News
  • Sukma
  • नक्सलियों के बेटा-बेटी नक्सली गतिविधियों में शामिल नहीं होते, सोचिए क्यों : कमांडेंट
--Advertisement--

नक्सलियों के बेटा-बेटी नक्सली गतिविधियों में शामिल नहीं होते, सोचिए क्यों : कमांडेंट

जगदलपुर. सिविक एक्शन प्रोग्राम में करतब दिखाते बच्चे। जगदलपुर | सुकमा जिले के धुर नक्सल प्रभावित ग्राम...

Dainik Bhaskar

Feb 04, 2018, 04:50 AM IST
नक्सलियों के बेटा-बेटी नक्सली गतिविधियों में शामिल नहीं होते, सोचिए क्यों : कमांडेंट
जगदलपुर. सिविक एक्शन प्रोग्राम में करतब दिखाते बच्चे।

जगदलपुर | सुकमा जिले के धुर नक्सल प्रभावित ग्राम कुमाकोलेंग में सीआरपीएफ 227 बटालियन द्वारा शुक्रवार को सिविक एक्शन प्रोग्राम का आयोजन किया गया जिसमें कुमाकोलेंग सहित आसपास के ग्राम सौतनार, नामा, बढ़नपाल, नयापारा, दलदली, चिरवाड़ा, कासीरास, गोविन्दपाल के लगभग 600 से अधिक ग्रामीण व बच्चे शामिल हुए। इस अवसर पर कमांडेंट संजय यादव ने ग्रामीणों से कहा कि नक्सली अपने फायदे के लिए आप लोगों को बहला-फुसला कर नक्सली गतिविधियों में शामिल करते हैं । उन्होंने कहा कि किसी भी नक्सली नेता का बेटा या बेटी नक्सली गतिविधियों में शामिल नहीं होता। कमाडेंट ने ग्रामीणों से नक्सलियों के खिलाफ जारी लड़ाई में सहयोग करने की मांग की । इसके पहले ग्रामीणों के बीच खेलकूद प्रतियोगिता का आयोजन भी किया गया। इस दौरान ग्रामीणों को दैनिक उपयोग का सामान दिया गया।

X
नक्सलियों के बेटा-बेटी नक्सली गतिविधियों में शामिल नहीं होते, सोचिए क्यों : कमांडेंट
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..