सुकमा

  • Hindi News
  • Chhattisgarh News
  • Sukma
  • आगजनी के दस दिन बाद भी शुरू नहीं हुईं आंध्र व तेलंगाना की बसें
--Advertisement--

आगजनी के दस दिन बाद भी शुरू नहीं हुईं आंध्र व तेलंगाना की बसें

दोरनापाल के पास पेंटा और पेदाकुरती कैंप के बीच 5 मार्च को एनएच 30 पर नक्सलियों ने तीन यात्री बस समेत 6 वाहनों को फूंक...

Dainik Bhaskar

Mar 17, 2018, 06:05 AM IST
आगजनी के दस दिन बाद भी शुरू नहीं हुईं आंध्र व तेलंगाना की बसें
दोरनापाल के पास पेंटा और पेदाकुरती कैंप के बीच 5 मार्च को एनएच 30 पर नक्सलियों ने तीन यात्री बस समेत 6 वाहनों को फूंक दिया था। इसमें दो बसें टीएसआरटीसी की थीं। आगजनी के बाद से ही आंध्रप्रदेश और तेलंगाना स्टेट रोड ट्रांसपोर्ट कॉर्पोरेशन ने अपनी बसों का संचालन छग की ओर बंद कर दिया था। वारदात के दस दिन बाद भी दोनों निगम की बसें शुरू नहीं हो सकी हैं। बसें कब से प्रारंभ होंगी इस सवाल का जवाब स्‍थानीय बुकिंग एजेंट के पास भी नहीं है। ऐसे में यात्रियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। आगजनी के बाद कहा जा रहा था कि बसों का संचालन 11 मार्च से शुरू किया जाएगा। इसके बाद बताया गया कि 15 मार्च से बसों का संचालन करने पर सड़क परिवहन निगम के अफसर विचार कर रहे हैं। शुक्रवार को बस स्टैंड स्थित बुकिंग एजेंट प्रसाद ने बताया कि वे लगातार आंध्रप्रदेश व तेलंगाना राज्य सड़क परिवहन निगम के अफसरों के संपर्क में हैं पर बसों का संचालन कब होगा, इसे लेकर ट्रांसपोर्ट कॉर्पोरेशन डीएम भी कुछ कहने की स्थिति में नहीं है। बसों के संचालक का निर्णय रीजनल मैनेजर स्‍तर पर होना है।

दोबारा आगजनी के डर से नहीं कर रहे संचालन : एपीएसआरटीसी और टीएसआरटीसी ने सुरक्षा कारणों की वजह से बसों का संचालन बंद रखा है। निगम को रात्रिकालीन बसों में दोबारा आगजनी होने का डर है। इस बात की जानकारी पुलिस के अलावा स्‍थानीय प्रशासन को भी है बावजूद पुलिस और स्‍थानीय प्रशासन ने बसों का संचालन प्रारंभ कराने के लिए किसी तरह की पहल नहीं की।

संबंधित खबर पेज 18 पर

परिवहन ठप

आंध्रप्रदेश व तेलंगाना राज्य सड़क परिवहन निगम के अफसरों को सुरक्षा का भरोसा नहीं, पहले 11 फिर 15 मार्च से बस सेवा शुरू होने की कही गई थी बात

पांच मार्च की रात आगजनी का शिकार हुई तेलंगानार एसआरटीएसी की बस।

सिर्फ दो प्राइवेट बसों के भरोसे 300 यात्री

5 मार्च को हुई आगजनी की नक्‍सली वारदात से पहले तेलंगाना एसआरटीसी की चार बसें सुकमा होते हुए हैदराबाद जातीं थीं। एक बस जगदलपुर से, एक बस दंतेवाड़ा और दो बसें बैलाडिला से रोजाना सुकमा होते हुए हैदराबाद आना-जाना करतीं थीं। इसके अलावा एआरएमटी की एक बस जगदलपुर और एक बस बैलाडिला से सुकमा होते हुए हैदराबाद जा रहीं थीं। 5 मार्च को मलकानगिरी से दोरनापाल होते हुए हैदराबाद के लिए नई बस सेवा शुरु हुई थी। आगजनी का शिकार होने के बाद यह बस सेवा भी बंद है। इस तरह कुल 7 बसों में लगभग 300 यात्री रोजाना हैदराबाद की ओर सफर कर रहे थे। आगजनी के बाद तेलंगाना राज्य सड़क परिवहन ने अपनी सभी चारों बसों का संचालन दूसरे दिन से ही बंद कर दिया। फिलहाल एआरएमटी की दो बसें ही हैदराबाद तक जा रहीं हैं। ऐसे में जगदलपुर,दंतेवाड़ा, बैलाडिला और मलकानगिरी से हैदराबाद जाने वाले लगभग 300 यात्री एआरएमटी की दो बसों पर ही पूरी तरह से निर्भर हो गए हैं। आंध्रप्रदेश टीएसआरटीसी की एक मात्र बस जगदलपुर से विजयवाड़ा तक चल रही थी, वह भी बंद है। फिलहाल गुप्ता ट्रैवल्स की एक बस विजयवाड़ा तक चल रही है।

X
आगजनी के दस दिन बाद भी शुरू नहीं हुईं आंध्र व तेलंगाना की बसें
Click to listen..