• Home
  • Chhattisgarh News
  • Sukma
  • जोगी की सरकार बनी तो आंध्रप्रदेश की तेंदूपत्ता नीति छग में लागू होगी
--Advertisement--

जोगी की सरकार बनी तो आंध्रप्रदेश की तेंदूपत्ता नीति छग में लागू होगी

गोली का जवाब अगर गोली होता तो नक्सलवाद कब का खत्म हो गया होता। बातचीत से नेपाल में नक्सली समस्या खत्म हो सकती है तो...

Danik Bhaskar | Apr 10, 2018, 02:50 AM IST
गोली का जवाब अगर गोली होता तो नक्सलवाद कब का खत्म हो गया होता। बातचीत से नेपाल में नक्सली समस्या खत्म हो सकती है तो छग में क्यों नहीं। नक्सली हिंसा से सत्ता हथियाना चाहते हैं। हिंसा से कभी सत्ता हासिल नहीं होगी, उन्हें मुख्यधारा में लौटना होगा। मेरे मुख्यमंत्री बनने के तुरंत बाद बातचीत से नक्सली समस्या का समाधान करने की कोशिश की जाएगी। अगर 2018 में छग में जकांछजे की सरकार बनी तो वे आंध्रप्रदेश की तेंदूपत्ता नीति को छग में लागू करेंगे। यह बातें जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के संस्थापक अजीत जोगी ने सोमवार को मिनी स्टेडियम में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए कही।

जोगी ने कहा कि आंध्रप्रदेश में तेंदूपत्ता की खरीदी ग्राम पंचायतों के माध्यम से की जा रही है। प्रति सौ गड्डी पांच सौ रुपए की दर से संग्राहकों को भुगतान किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि उनका सुकमा के लोगों से विशेष लगाव है। जब वे मुख्यमंत्री थे तो छिंदगढ़, तोंगपाल, चिंतलनार, सुकमा एवं कोंटा के लोगों की मांग पुल-पुलिया, सड़क, स्कूल व आश्रम समेत अन्य मांग को पूरा किया। उन्होंने केंद्र व राज्य की भाजपा सरकार के अलावा विधायक कवासी लखमा पर भी निशाना साधा। सभा को जकांछजे के जिलाध्यक्ष आयताराम मंडावी, बुधरा मरकाम एवं अशोक गंदामी ने भी संबोधित किया।

बिटिया पैदा होने पर सरकार देगी 1 लाख

अजीत जोगी ने कहा कि छग के किसान बैंक व साहूकार के कर्ज में डूबकर आत्महत्या करने को मजबूर हैं। सरकार किसानों को उनकी फसलों का उचित दाम नहीं दे रही है। सरकार किसानों के साथ वादा खिलाफी कर रही है। जकांछजे की सरकार बनते ही किसानों के कर्ज तत्काल माफ कर दिए जाएंगे। उनकी सभी फसलों का उचित दाम सरकार द्वारा तय किया जाएगा। बिटिया पैदा होने पर सरकार एक लाख रुपए देगी। कलेक्टर और बिटिया के संयुक्त नाम पर एफडी कराया जाएगा।

सुकमा. मिनी स्टेडियम में आयोजित जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ की सभा में उपस्थित ग्रामीण।

आखिरी सांस तक पोलावरम बांध का विरोध करेंगे

अजीत जोगी ने कहा कि मैंने स्थानीय विधायक कवासी लखमा को कहा कि पोलावरम बांध बनने से सुकमा जिले के कोंटा समेत 40 गांव डूबान में आएंगे। कोया और दोरला जाति की बसाहट वाले इलाके जलमग्न हो जाएंगे। खनिज और वन संपदा नष्ट हो जाएंगे, इसलिए पोलावरम बांध का साथ मिलकर विरोध करते हैं। तब विधायक ने कहा कि पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पोलावरम बांध निर्माण के समर्थन में पीएम मोदी को पत्र लिखा है, ऐसे में वे इसका विरोध नहीं कर सकते। जोगी ने कहा कि बांध की ऊंचाई कम करने की मांग को लेकर पोलावरम बांध का विरोध वे आखिरी सांस तक करेंगे। जोगी ने कोंटा विधायक कवासी लखमा पर कई गंभीर आरोप लगाए। जोगी ने कहा कि मैं चुनाव के समय सब कच्चा चिट्ठा निकालकर लाऊंगा और जनता को बताऊंगा।