Hindi News »Chhatisgarh »Sukma» सचिव ने नक्सलियों से करवाई थी सरपंच की हत्या

सचिव ने नक्सलियों से करवाई थी सरपंच की हत्या

जिला मुख्यालय के सोढ़ी पारा में रविवार रात हुई बड़ेसेट्टी पंचायत के सरपंच कलमू हुंगा की हत्या की वारदात की गुत्थी...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 11, 2018, 03:20 AM IST

जिला मुख्यालय के सोढ़ी पारा में रविवार रात हुई बड़ेसेट्टी पंचायत के सरपंच कलमू हुंगा की हत्या की वारदात की गुत्थी सुलझाने का दावा पुलिस ने किया है। एएसपी संजय महादेवा और एसडीओपी रामगोपाल करियारे ने मंगलवार को पुराने एसपी कार्यालय में संयुक्त प्रेसवार्ता कर बताया कि हत्या के आरोपी बड़ेसेट्टी के पंचायत सचिव नंदलाल ईडो को मंगलवार सुबह पुलिस ने फुलबगड़ी के कोटमपारा उसके घर से गिरफ्तार किया। वारदात में इस्तेमाल सचिव की स्कार्पियों वाहन भी पुलिस ने जब्त की है। एएसपी ने बताया कि सरपंच की हत्या में नंदलाल ईडो समेत चार अन्य नक्सली शामिल थे। उन्‍होंने बताया कि मामला सुपारी किलिंग से जुड़ा है। पैसे लेकर नक्‍सलियों ने वारदात को अंजाम दिया है। हत्या वाले दिन सचिव सोढ़ीपारा में ही मौजूद था, इसकी पुष्टि उसके मोबाइल लोकेशन से हुई। बयान में उसने फुलबगड़ी के कोटमपारा में होने की बात कही थी। गौरतलब है कि 2016 में हुई मुठभेड़ में पुलिस ने तीन महिला नक्सलियों को मार गिराने का दावा किया था। इसी कथित मुठभेड़ की मुखबिरी के आरोप में बीते साल फरवरी में बड़ेसेट्टी सरपंच कलमू हुंगा के करीबी रिश्तेदार कलमू रुपेश की हत्या कर दी गई थी। इसके बाद से हुंगा सोढ़ी पारा में रहने लगा था।

निर्दोष पंचायत सचिव को जबरन फंसा रही पुलिस

उपनेता प्रतिपक्ष व स्थानीय विधायक कवासी लखमा ने बड़ेसेट्टी सरपंच कलमू हुंगा की हत्या पर दु:ख व्यक्त करते हुए वारदात की कड़ी निंदा की है। लखमा ने झूठी कहानी बनाकर निलंबित पंचायत सचिव नंदलाल ईडो को जबरन फंसाने का आरोप लगाया। विधायक लखमा ने बताया कि हुंगा काफी समय से नक्सलियों के टारगेट पर था।

पंचायत सचिव नंदलाल ईडो

नक्सलियों को आर्थिक मदद पहुंचाता था सचिव : एसपी

एएसपी ने बताया कि नंदलाल पंचायत के सरपंच कलमू हुंगा को गुमराह कर ग्राम पंचायत के विभिन्न मदों से मनमानी तरीके से पैसे का आहरण करता था और उसे नक्सलियों तक पहुंचाता था। बीते साल अक्टूबर में उसने पांच लाख रुपए का आहरण किया। इसमें से दो लाख रुपए उसने नक्सलियों को दिया। पुलिस के मुताबिक सरपंच द्वारा विरोध के कारण सचिव व सरंपच के बीच काफी दिनों से अनबन चल रही थी।

पुलिस ने कुछ इस तरह बताई हत्या की कहानी

पुलिस अफसरों ने पत्रकारों को बताया कि रविवार शाम 7 बजे सचिव नंदलाल ईडो बड़ेसेट्टी के सिंघनपारा से चार नक्सलियों को स्वयं की स्कॉर्पियो वाहन से लेकर सुकमा पहुंचा। तुंगलबांध के पास गाड़ी खड़ी कर नंदलाल ने नक्सलियों के लौटने का इंतजार किया। रात करीब 8 बजे हुंगा घर कुछ ही फासले पर स्थित अपने साढू लक्ष्मीनाथ मरकाम के घर रात्रि भोजन के लिए पहुंचा। इसी दौरान धारदार हथियार से लैस चार नक्सलियों ने भोजन करने बैठे हुंगा पर कई जानलेवा वार कर उसे घसीटते हुए कमरे से बाहर निकाला और गला रेतकर फरार हो गए। मौके उन्होंने पर्चा भी फेंका।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Sukma

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×