--Advertisement--

जमीन में गड़ा धन निकालने के लिए दुर्लभ पेंगोलिन का 10 लाख में किया सौदा, दो भाइयों सहित 7 गिरफ्तार

बलरामपुर में खरीदार और विक्रेता पकड़े गए, जीव, उसकी खाल, तीन बाइक, चार मोबाइल जब्त

Dainik Bhaskar

Jun 29, 2018, 12:04 PM IST
बरामद दुर्लभ प्रजाति का पेंगोलिन बरामद दुर्लभ प्रजाति का पेंगोलिन

राजपुर। छत्तीसगढ़ के बलरामपुर में दुर्लभ प्रजाति के जीव पेंगोलिन का सौदा करते हुए पुलिस ने गुरुवार आधी रात दो भाइयों सहित 7 तस्करों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपी पेंगोलिन को जमीन में गढ़ा धन निकालने के लिए लेकर आए थे और उसका 10 लाख रुपये में सौदा किया था। पुलिस ने आरोपियों के पास से पेंगोलिन की खाल, तीन बाइक अौर चार मोबाइल भी जब्त किए हैं। मुक्त कराए गए पेंगोलिन को पुलिस ने वन विभाग को सौंप दिया। जिसके बाद उसे विचरण के लिए जंगल में छोड़ दिया गया है।

- एसपी बलरामपुर टीएम कौशिमा ने बताया कि सूचना मिली थी कि ग्राम लिलौटी के कुछ लोग दुर्लभ जीव पेंगोलिन का सौदा अमरदरी राजपुर निवासी रामलाल और बूढ़ा-बगीचा निवासी रामअवतार से करने के लिए सेमरसौत आने वाले हैं। इस पर एडिशनल एसपी पंकज शुक्ला के नेतृत्व में साइबर सेल, थाना और डीरा चौकी पुलिस की टीम गठित की गई।

- इसके बाद टीम ने घेराबंदी करते हुए गुरुवार आधी रात के करीब सौदा करते हुए सभी आरोपियों को धर दबोचा। जब आरोपियों से पेंगोलिन के खरीदने और बेचने संबंधित दस्तावेज मांगे गए तो ये नहीं दिखा पाए। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि वो जमीन में गड़ा धन निकालने और पूजा पाठ के लिए पेंगोलिन को पकड़कर लाए थे। सौदा तय हुआ था कि जमीन से गड़ा धन मिलने के बाद 10 लाख रुपये दोनों खरीदार देंगे।

- पकड़े गए आरोपियों में डीरा क्षेत्र के ग्राम लिलौटी का दलाल उमेश ठाकुर भी शामिल है। इसके अलावा पुलिस ने रामकेला सूरजपुर निवासी दो भाइयों जोसफ लड़का व कमलेश्वर लकड़ा, डबरा थाना पस्ता लिलौटी निवासी परमेश्वर और रमेश कुमार को गिरफ्तार किया है।

ए श्रेणी का जीव है पेंगोलिन

- बरामद किया गया जीव अति दुर्लभ श्रेणी का जीव है। इसे भारत सरकार की ओर से ए श्रेणी में रखा गया है। इसे पकड़ने, मारने या पालने पर पूरी तरह से प्रतिबंध है। इसको मारने पर कम से कम 10 साल की सजा और जुर्माना दोनों हो सकता है।

- ये सांप और छिपकली के बीच की कड़ी है। इसका प्रयोग थाइलैंड, चीन, डेनमार्क, इंडोनेशिया, सिंगापुर जैसे देशों में दवाई बनाने में किया जाता है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में इसकी कीमत 10 लाख रुपये से भी ज्यादा है। इंटरपोल के मुताबिक सबसे ज्यादा तस्करी किए जाने वाला दुर्लभ जीव है पेंगोलिन।

रिपोर्ट/फोटो : विश्वास गुप्ता

पेंगोलिन के साथ पकड़े गए आरोपी पेंगोलिन के साथ पकड़े गए आरोपी
बरामद दुर्लभ प्रजाति का पेंगोलिन बरामद दुर्लभ प्रजाति का पेंगोलिन
X
बरामद दुर्लभ प्रजाति का पेंगोलिनबरामद दुर्लभ प्रजाति का पेंगोलिन
पेंगोलिन के साथ पकड़े गए आरोपीपेंगोलिन के साथ पकड़े गए आरोपी
बरामद दुर्लभ प्रजाति का पेंगोलिनबरामद दुर्लभ प्रजाति का पेंगोलिन
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..