• Hindi News
  • Chhattisgarh News
  • Surajpur News
  • फूड प्वाइजनिंग की वजह खाने में खराब दही बड़ा, एहतियातन 44 बच्चे अस्पताल में हैं भर्ती
--Advertisement--

फूड प्वाइजनिंग की वजह खाने में खराब दही बड़ा, एहतियातन 44 बच्चे अस्पताल में हैं भर्ती

फूड प्वाइजनिंग का शिकार हुए बसदेई नवोदय स्कूल के 44 बच्चांे का दूसरे दिन भी जिला अस्पताल में इलाज चलता रहा, हालांकि...

Dainik Bhaskar

Mar 05, 2018, 03:10 AM IST
फूड प्वाइजनिंग की वजह खाने में खराब दही बड़ा, एहतियातन 44 बच्चे अस्पताल में हैं भर्ती
फूड प्वाइजनिंग का शिकार हुए बसदेई नवोदय स्कूल के 44 बच्चांे का दूसरे दिन भी जिला अस्पताल में इलाज चलता रहा, हालांकि डाक्टर इन्हें अब सुरक्षित बता एहतियातन भर्ती रखने की बात कह रहे हैं। इधर स्कूल में बने अस्थायी कैंप में रविवार को सिर्फ दो बच्चे व तीन स्टाफ इलाज कराने पहंुचे।

होली पर्व की रात जिस दही बड़े व पनीर काे भोजन के साथ खाया था उसका संैपल जब्त कर रायपुर लैब जांच के लिए भेजा है। बताया जा रहा है कि दही बड़ा खराब होने से बच्चे बीमार हुए, जिसने दही बड़ा दोनों टाइम खाया उनकी हालत ज्यादा खराब थी। बसदेई के नवाेदय स्कूल में होली की रात करीब 233 विद्यार्थियों ने दही बड़ा व पनीर खाया था। सभी बच्चे तड़के एक-एक कर बीमार हो गए। सभी को उल्टी-दस्त व बुखार की शिकायत थी। स्कूल प्रबंधन की सूचना पर प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग हरकत में आया और स्कूल व बसदेई स्वास्थ्य केंद्र व जिला अस्पताल में पीड़ितों का इलाज शुरू हुआ। स्कूल के बीस कमरों में दर्जनों पीड़ितों का एक साथ इलाज किया गया। शाम तक सभी की हालत ठीक होने पर उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया।

अस्पताल में भर्ती बच्चे।

दही बड़ा खाकर बच्चे बीमार कल्चर कर जांच करेगी टीम

सीएमओ डा. वैश्य ने बताया जिन बच्चांे हाेली के दिन दोनों टाइम दही बड़ा खाया था उसकी हालत ज्यादा बिगड़ी। एक बार खाने वाला कुछ कम बीमार हुआ और जिसने दही बड़ा नहीं खाया उसे कोई समस्या नहीं हुई। दूषित दही बड़े की जांच कर यह पता लगाया जाएगा कि उसमें कौन सा नुकसानदेह बैक्टीरिया था जिसके चलते बच्चे बीमार हुए।

पानी कम पीते हैंं या टंकियों की सफाई नहीं होती: स्कूल के बच्चों का इलाज कर रहे डाक्टरांे ने बताया कि फूड प्वाइजनिंग के अलावा यहां के बच्चे बुखार, टाइफाइड सहित यूटीआई से पीड़ित मिले। यूटीआई कम पानी या दूषित पानी पीने के कारण बच्चों में पेशाब संबंधी इंफेक्शन अक्सर होता है। स्कूल में बच्चे या तो कम पानी पीते हैं या फिर वहां की टंकियों की सफाई लंबे समय से नहीं हो रही है।

नवोदय रीजनल कार्यालय से जांचने आएंगे अधिकारी

दर्जनों बच्चों के एक साथ फूड प्वाइजनिंग का शिकार होने की घटना से अभिभावकों में गुस्सा है। इसे लेकर प्रबंधन पर भी दबाव है। इस मामले की सूचना बसदेई नवोदय विद्यालय द्वार अपने रीजनल कार्यालय को भेजी गई है। वहां से एक टीम मामले की जांच कर दिल्ली अपनी रिपोर्ट भेजेगी। इसके बाद ही कार्रवाई तय हो सकती है।

X
फूड प्वाइजनिंग की वजह खाने में खराब दही बड़ा, एहतियातन 44 बच्चे अस्पताल में हैं भर्ती
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..