• Hindi News
  • Chhattisgarh News
  • Surajpur News
  • सरकार की नीति के चक्कर में लाखों बेरोजगार पर नहीं है रोजगार की चिंता
--Advertisement--

सरकार की नीति के चक्कर में लाखों बेरोजगार पर नहीं है रोजगार की चिंता

भारतीय मजदूर संघ ने केंद्रीय बजट में लोगों को राहत नहीं दिए जाने के विरोध मेेंं रंगमंच मैदान में प्रदर्शन किया।...

Dainik Bhaskar

Feb 05, 2018, 03:40 AM IST
सरकार की नीति के चक्कर में लाखों बेरोजगार पर नहीं है रोजगार की चिंता
भारतीय मजदूर संघ ने केंद्रीय बजट में लोगों को राहत नहीं दिए जाने के विरोध मेेंं रंगमंच मैदान में प्रदर्शन किया। संघ की ओर से कहा गया कि जीएसटी के कारण जरूरी चीजें महंगी हो गई। नोटबंदी के कारण लाखों लोग बेरोजगार हो गए लेकिन सरकार ने इनके फिर से रोजगार की चिंता नहीं की। जीएसएटी व नोटबंदी के कारण सरकार को एक हजार करोड़ से ज्यादा टैक्स मिला फिर भी नए बजट के टैक्स स्लेब में कोई राहत नहीं दी गई। मध्यम वर्ग इन्कम टैक्स के स्लैब में वृद्धि नहीं होने से निराश है।

अखिल भारतीय मजदूर संघ के अध्यक्ष अमर सिंह, जिला मंत्री महेन्द्र कुमार, महामंत्री भारतीय कोयला खदान मजदूर संघ महेश गुप्ता, शिवराय सिंह, शुक्ला प्रसाद, गजरूल अंसारी सहित दर्जनों कार्यकर्ताओें ने बजट के विरोध में रंगमंच मैदान में प्रदर्शन किया। मजदूर नेताओं ने कहा कि असंगठित क्षेत्र के सोशल सिक्यूरिटी फंड में कोई भी आर्थिक पैकेज की घोषणा वित्त मंत्री द्वारा नहीं किए जाने से असंगठित क्षेत्र के कामगार आंगनवाड़ी वर्कर, आशा वर्कर को न ही ईपीएफ का लाभ मिलेगा और न ही पेंशन मिलेगी। जॉब सिक्यूरिटी की चर्चा वित्त मंत्री ने नहीं की है। सरकार को ईपीएफ पेंशन जो एक हजार है उसे बढ़ाने की जरूरत है। मनरेगा के बजट आवंटन पर भी वित्तमंत्री ने कुछ नहीं कहा। बजट की मंशा के अनुसार फिक्स्ड टर्म इंप्लायमेंट का चलन प्रारंभ होगा। श्रमिक, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता तंथा अन्य स्कीम वर्कर को इस बजट में कोई भी राहत नहीं दी गई है। किसी का मानदेय बढ़ा और न ही वेतनमान।

X
सरकार की नीति के चक्कर में लाखों बेरोजगार पर नहीं है रोजगार की चिंता
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..