Hindi News »Chhatisgarh »Surajpur» बीईआे ने शिक्षाकर्मियों काे बिना अनुमोदन समयमान वेतन

बीईआे ने शिक्षाकर्मियों काे बिना अनुमोदन समयमान वेतन

सूरजपुर जिले के भैयाथान ब्लॉक में आश्चर्यजनक कारनामा सामने आया है जिसमें बीईओ द्वारा कई शिक्षाकर्मियों को नियम...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 08, 2018, 05:35 AM IST

सूरजपुर जिले के भैयाथान ब्लॉक में आश्चर्यजनक कारनामा सामने आया है जिसमें बीईओ द्वारा कई शिक्षाकर्मियों को नियम विरुद्ध तरीके से समयमान वेतन दे दिया गया। गौरतलब है कि जिले भर के शिक्षाकर्मी जिस समयमान वेतन के लिए जिला पंचायत की सामान्य प्रशासन समिति के अनुमोदन की प्रतीक्षा कर रहे है वहीं भैयाथान बीईओ द्वारा उस समयमान वेतन को बिना सामान्य समिति के अनुमोदन और बिना जिला पंचायत के आदेश के कुछ चहेते शिक्षाकर्मियों को भुगतान कर दिया गया। एक ही पद पर सात वर्ष की सेवा पूर्ण करने वाले शिक्षाकर्मियों को समयमान वेतन का लाभ प्राप्त होता है।

वर्ग एक व दो के शिक्षाकर्मियों के लिए नियमानुसार इस वेतन के भुगतान जिला पंचायत की सामान्य प्रशासन समिति द्वारा अनुमोदन के बाद ही जिला पंचायत कार्यालय से विधिवत आदेश जारी किया जाता है। कई महीने पहले से ही जिले भर के समयमान वेतनमान के पात्र शिक्षाकर्मियो का प्रस्ताव अनुमोदन हेतु सामान्य प्रशासन समिति में रखा गया है, लेकिन कोरम पूरा नहीं होने के कारण यह बैठक स्थगित हो जा रही है।

इधर भैयाथान बीईओ मनमाने तरीके से जिला पंचायत के आदेश के बिना ही अनुमोदन की प्रत्याशा में समयमान वेतन नवम्बर 2017 में ही जारी कर दिया गया।

नकारते हुए लागू नहीं हुआ समयमान वेतनमान

इस संबंध में बीईओ एमएन पवार से पूछने पर उन्होंने बताया कि वर्ग तीन का समयमान वेतन पखवाड़े भर पहले जारी किया गया है। वर्ग एक और दो के लिए जिला पंचायत में प्रस्ताव भेजा गया है। उनसे नवम्बर में ही वर्ग दो के लगभग दस शिक्षाकर्मियों को समयमान वेतन देने एवं वेतन पत्रक में उनके पुत्र का नाम सामने आने की बात पर उन्होंेने इस बात को नकारते हुए कहा कि अभी समयमान वेतनमान लागू नहीं हुआ है।

अनुमोदन के बगैर समयमान वेतन जारी करना गलत

जिला पंचायत अध्यक्ष अशोक जगते ने बताया कि समयमान वेतमान के लिए सामान्य प्रशासन समिति बैठक सोमवार को बुलाई गई है। अगर भैयाथान बीईओ द्वारा नवम्बर में ही समयमान वेतन जारी किया गया है तो यह नियम विरुद्ध है। उनके विरुद्ध कार्रवाई की अनुशंसा की जाएगी।

मामले की जांच के बाद की जाएगी कार्रवाई

मुझे इस संबंध में जानकारी नहीं थी। यदि बीईओ द्वारा सामान्य प्रशासन के अनुमोदन बगैर समयमान वेतनमान दिया गया है तो गलत है। मामले की जांच कराने के बाद दोषी पाए जाने पर कार्रवाई की जाएगी। -संजीव कुमार झा, सीईओ जिला पंचायत

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Surajpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×