सूरजपुर

--Advertisement--

शिवनंदनपुर की भूमि सीमांकन पर संशय की बनी स्थिति

भास्कर संवाददाता|बिश्रामपुर ग्राम शिवनंदनपुर मेन रोड के उत्तर दिशा स्थित राजस्व एवं एनसीडीसी (वर्तमान में...

Dainik Bhaskar

Apr 22, 2018, 02:40 AM IST
भास्कर संवाददाता|बिश्रामपुर

ग्राम शिवनंदनपुर मेन रोड के उत्तर दिशा स्थित राजस्व एवं एनसीडीसी (वर्तमान में एसईसीएल) की भूमि को अलग चिन्हांकित करने पहुंची सीमांकन टीम की कार्रवाई पर संशय की स्थिति बनी हुई है। नोडल अधिकारी समेत संयुक्त टीम के अधिकारीगण सीमांकन की कार्रवाई पूर्ण होने की बात कह रहे हैं। वहीं ग्राम शिवनंदनपुर के पंचायत प्रतिनिधिगण एवं ग्रामीणों के अनुसार जमीन की नपाई तो हुई ही नहीं है।

गौरतलब है कि एसईसीएल के संपदा अधिकारी ने सूरजपुर कलेक्टर को पत्र लिखकर मुख्य मार्ग से उत्तर दिशा स्थित राजस्व एवं एसईसीएल की भूमि चिन्हांिकत कराने हेतु राजस्व अधिकारियों से जमीन सीमांकन कराने हेतु आग्रह किया गया था, इसके लिए संपदा अधिकारी ने कलेक्टर को लिखे पत्र में जिला न्यायालय में दायर सिविल अपील में पारित आदेश का हवाला भी दिया था। इसके बाद कलेक्टर सूरजपुर केसी देवसेनापति ने एसडीओ राजस्व विजेंद्र सिंह पाटले को नोडल अधिकारी बनाते हुए सीमांकन हेतु 8 सदस्यीय टीम का गठन किया था। 8 अप्रैल को एसडीओ संयुक्त टीम एवं पुलिस बल के साथ शिवनंदनपुर की विवादित जमीन का सीमांकन करने पहुंचे थे जहां पर राजस्व टीम को स्थानीय व्यापारियों और ग्रामीणों के विरोध का सामना करना पड़ा था। दुकानदारों ने दिन भर अपनी दुकानें बंद कर प्रदर्शन किया था इस दौरान शिवनंदनपुर सरपंच विमला देवी के नेतृत्व में नोडल अधिकारी को लिखित आपत्ति पत्र सौंपा गया था।

ग्रामीणों को गुमराह कर रहे राजस्व अधिकारी

जनपद सदस्य पवन गोयल, सरपंच विमला देवी, उपसरपंच कृष्ण गोयल, पंच धर्मेंद्र गुप्ता सहित पंचायत प्रतिनिधियों ने बताया कि जिला प्रशासन के राजस्व अधिकारीगण शिवनंदनपुर के ग्रामीणों को गुमराह कर रहे हैं। 8 अप्रैल को एसडीओ राजस्व एवं टीम द्वारा शिवनंदनपुर के मिलन चौक में कोटवार से जरीब गिरवाकर केवल वीडियोग्राफी कराई गई।

आपत्ति के निराकरण की भी नहीं दी सूचना

सरपंच विमला देवी ने बताया 8 अप्रैल को सूरजपुर एसडीओ राजस्व को दी लिखित आपत्ति पत्र के निराकरण की सूचना अभी जिला प्रशासन ने पंचायत भवन नहीं भेजी है। तैयार किए पंचनामा में शिवनंदनपुर के किसी भी ग्रामीण एवं पंचायत प्रतिनिधि का हस्ताक्षर नहीं लिया गया है जो कि अवैध है। सूरजपुर कार्यालय में बैठकर फर्जी प्रतिवेदन तैयार किया गया है जिसे पंचायत सक्षम न्यायालय में चुनौती देगी।

आंदोलन की तैयारी में फुटकर व्यापार संघ

शिवनंदनपुर के फुटकर व्यापार संघ एवं शिवनंदनपुर के बस्तीपारा, तलवापारा, इतवारी बाजार, गंवटियापारा के लोगों ने स्थानीय भवन में बैठक बुलाकर सिलसिलेवार आंदोलन की रणनीति बनाई है। बैठक में जिला प्रशासन के कार्यशैली से नाराज लोगों ने नगर बंद, चक्काजाम ब्लैक आऊट सहित सिलसिलेवार आंदोलन करने की बात कही गई है।

X
Click to listen..