सूरजपुर

--Advertisement--

अक्षय तृतीया पर विभाग ने जिले में रोके 33 बाल विवाह

जिले में अक्षय तृतीय में होने वाले बाल विवाहों पर रोक लगाने के लिए तैयार की गई टीम ने चार दिनों में 33 बाल विवाह...

Dainik Bhaskar

Apr 21, 2018, 03:15 AM IST
जिले में अक्षय तृतीय में होने वाले बाल विवाहों पर रोक लगाने के लिए तैयार की गई टीम ने चार दिनों में 33 बाल विवाह रुकवाए हैं। अक्षय तृतीया के दौरान होने वाले बाल विवाह के रोक थाम के लिए जिले में व्यापक अभियान चलाया गया। इन चार दिनों में करीब 50 विवाहों की जांच की गई।

सर्वप्रथम जहां बाल विवाह की सूचना थी या जिस क्षेत्र में पूर्व में प्रकरण आ चुके क्षेत्रों में टीम द्वारा जांच की गई, क्षेत्र में बाल विवाह हेतु व्यापक प्रशिक्षण एवं जागरूकता के कार्यक्रम भी पूर्व में किये जा चुके हैं। जांच टीम को यह भी क्षेत्र में पता चला कि कहीं बालिका को ही बदल दिया गया, तो कहीं पूरा परिवार घर छोड़ दिया। जांच दल द्वारा सभी को समझाइश दी गई कि बाल विवाह एक अभिशाप ही नही बल्कि गैर कानूनी है। बाल विवाह रोकने में महिला एवं बाल विकास विभाग की पर्यवेक्षक, जिला बाल संरक्षण इकाई, पुलिस विभाग, चाईल्ड लाइन की टीम का सक्रिय योगदान रहा। जिले के विकासखण्ड रामानुजनगर में 21, विकासखण्ड प्रेमनगर में 2, विकासखण्ड ओड़गी में 4 विकासखण्ड सूरजपुर में 4 विकासखण्ड भैयाथान में 2 सभी विकासखण्डों में कुल 33 बाल विवाह रोके गये।

X
Click to listen..