Hindi News »Chhatisgarh »Surajpur» बसदेई में उल्टी-दस्त का प्रकोप, वृद्ध की अस्पताल में मौत, 18 लोग भर्ती

बसदेई में उल्टी-दस्त का प्रकोप, वृद्ध की अस्पताल में मौत, 18 लोग भर्ती

जिले के बसदेई इलाके में दूषित पानी के कारण उल्टी-दस्त से बीमार एक वृद्ध की शनिवार शाम जिला अस्पताल में मौत हो गई,...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 03, 2018, 03:25 AM IST

बसदेई में उल्टी-दस्त का प्रकोप, वृद्ध की अस्पताल में मौत, 18 लोग भर्ती
जिले के बसदेई इलाके में दूषित पानी के कारण उल्टी-दस्त से बीमार एक वृद्ध की शनिवार शाम जिला अस्पताल में मौत हो गई, हालांकि स्वास्थ्य विभाग इस बात से इनकार कर रहा है। बसदेई में चार दिन पहले उल्टी-दस्त की शिकायत सामने आई थी। इसके बाद मेडिकल टीम ने गांव मेंे कैंप लगाकर लोगों का इलाज किया। इनमें से 30 लोगों को शुक्रवार को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इलाज के बाद पंद्रह लोगों को छुट्‌टी दे दी गई थी। बाकी लोगोंे का इलाज चल रहा था। इन्हीं में एक वृद्ध की मौत हो गई।

बसदेई प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र इलाके में ही तीन दिन पहले उल्टी-दस्त से कई लोग पीड़ित हो गए। इसके बाद शुक्रवार को 30 मरीजों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया जिनमें 15 लोगों को इलाज के बाद हालत ठीक होने पर छुट्‌टी दे दी गई थी। बाकी लोगों का उपचार चल रहा है। बीएमओ डा. आरएस सिंह ने बताया कि अभी 18 मरीज जिला अस्पताल में भर्ती हैं। इनमें एक महिला मनियारो बाई को अंबिकापुर रेफर किया गया है। इलाज के दौरान ही खुसियाल राजवाड़े 60 वर्ष की शनिवार दोपहर अस्पताल में मौत हो गई। उसके आंत में इंफेक्शन की बात सामने आई है। इधर सीएमओ डॉ. एसपी वैश्य के साथ मेडिकल टीम ने प्रभावित बसदेई गांव में कैम्प लगाकर लोगों के इलाज में जुटी है। सीएमओ के मुताबिक वहां स्थिति नियंत्रण में है। स्वास्थ्य शिविर में डॉ. गरिमा सिंह, डॉ. आरएस सिंह एवं पैरा मेडिकल की टीम इलाज में जुटे हैं।

प्रशासन ने मेडिकल टीम भेजकर गांव में जल स्रोतों की कराई जांच, मिला दूषित पानी

भास्कर संवाददाता|सूरजपुर

जिले के बसदेई इलाके में दूषित पानी के कारण उल्टी-दस्त से बीमार एक वृद्ध की शनिवार शाम जिला अस्पताल में मौत हो गई, हालांकि स्वास्थ्य विभाग इस बात से इनकार कर रहा है। बसदेई में चार दिन पहले उल्टी-दस्त की शिकायत सामने आई थी। इसके बाद मेडिकल टीम ने गांव मेंे कैंप लगाकर लोगों का इलाज किया। इनमें से 30 लोगों को शुक्रवार को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इलाज के बाद पंद्रह लोगों को छुट्‌टी दे दी गई थी। बाकी लोगोंे का इलाज चल रहा था। इन्हीं में एक वृद्ध की मौत हो गई।

बसदेई प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र इलाके में ही तीन दिन पहले उल्टी-दस्त से कई लोग पीड़ित हो गए। इसके बाद शुक्रवार को 30 मरीजों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया जिनमें 15 लोगों को इलाज के बाद हालत ठीक होने पर छुट्‌टी दे दी गई थी। बाकी लोगों का उपचार चल रहा है। बीएमओ डा. आरएस सिंह ने बताया कि अभी 18 मरीज जिला अस्पताल में भर्ती हैं। इनमें एक महिला मनियारो बाई को अंबिकापुर रेफर किया गया है। इलाज के दौरान ही खुसियाल राजवाड़े 60 वर्ष की शनिवार दोपहर अस्पताल में मौत हो गई। उसके आंत में इंफेक्शन की बात सामने आई है। इधर सीएमओ डॉ. एसपी वैश्य के साथ मेडिकल टीम ने प्रभावित बसदेई गांव में कैम्प लगाकर लोगों के इलाज में जुटी है। सीएमओ के मुताबिक वहां स्थिति नियंत्रण में है। स्वास्थ्य शिविर में डॉ. गरिमा सिंह, डॉ. आरएस सिंह एवं पैरा मेडिकल की टीम इलाज में जुटे हैं।

30 ग्रामीणों को इलाज के लिए किया था अस्पताल में भर्ती

उल्टी दस्त से पीड़त गांव के 30 लोगों को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती किया गया था। प्राथमिक उपचार के बाद इनमें से 15 लोगों की हालत में सुधार आने पर उनकी छुट्‌टी कर दी गई। वहीं 15 लोगों को अभी अस्पताल में इलाज जारी है। अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि भर्ती लोगों को उपचार चल रहा है। सभी की हालत खतरे से बाहर से है। जैसे-जैसे मरीजों की हालत में सुधार होगा, उन्हें छुट्‌टी दे दी जाएगी।

गांव के सभी कुओं में डाला ब्लीचिंग पावडर

सीएमओ डा. वैश्य ने बताया कि पानी दूषित होने से बीमार होने की बात सामने आने के बाद मेडिकल टीम द्वारा गांव के सभी कुओं में ब्लीचिंग पाउडर डाला गया है। फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है। उन्होंने अस्पताल में उल्टी-दस्त से किसी की मौत होने की बात से इनकार किया है। उनके अनुसार दूषित पानी पीने के कारण लोगों की हालत बिगड़ी थी, जिन्हें इलाज मुहैया कराया जा रहा है।

कैंप मेंं 50 से ज्यादा लोगों का हुआ इलाज

ग्राम बसदेई के बाजारपारा, देवल्लापारा व रजवारीपारा के ज्यादातर लोग उल्टी-दस्त से पीड़ित हैंं। यहां शुक्रवार व शनिवार के भीतर कैंप में पचास से ज्यादा लोगों का इलाज किया गया। अभी भी वहां बीस लोग निगरानी में हैं। पीड़ितों में सीमा उम्र 19 वर्ष, लक्ष्मण 37 वर्ष, चिन्तामणी 48 वर्ष, धनमेस 40 वर्ष हैं। इनके अलावा अन्य बीमार लोगों का इलाज चल रहा है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Surajpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×