• Hindi News
  • Chhatisgarh
  • Surajpur
  • महिलाएं कमजोर नहीं होती, जरूरत है बस उनके आत्मविश्वास को जगाने की: न्यायधीश गिरजा
--Advertisement--

महिलाएं कमजोर नहीं होती, जरूरत है बस उनके आत्मविश्वास को जगाने की: न्यायधीश गिरजा

अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश गिरिजा देवी मराबी एवं संघपुष्पा भतपहरी द्वारा बड़कापारा एवं मानपुर में विधिक...

Dainik Bhaskar

May 15, 2018, 03:30 AM IST
महिलाएं कमजोर नहीं होती, जरूरत है बस उनके आत्मविश्वास को जगाने की: न्यायधीश गिरजा
अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश गिरिजा देवी मराबी एवं संघपुष्पा भतपहरी द्वारा बड़कापारा एवं मानपुर में विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया।

शिविर में न्यायाधीश गिरजा देवी मराबी ने कहा कि संस्कार निर्माण में महिलाओं का महत्वपूर्ण योगदान होता है। उन्होंने कहा कि हमारे समाज में महिलाओं को कमजोर समझकर उनका शोषण बहुत लम्बे समय से हो रहा है लेकिन आज महिला कमजोर नही है। आज हर एक कार्य को करने में वह सक्षम है। बस जरूरत है उनके आत्मविश्वास को जगाने की। सरकार द्वारा महिलाओं के हित में कई कानून बनाये गये हैं फिर भी बच्चों व महिलाओं के साथ आए दिन अनाचार जैसे घिनौने अपराध सुनने को मिलते हैं। उन्होने कहा कि कानून की नजर में अनाचार एक जघन्य अपराध है। कुछ महिलाएं सामाजिक रूढ़िवादियों से बचने के लिये इस बात को दबा देती है। कुछ लोग तो पुलिस थानों में सूचना तक नही देते हैं। इसी कारण ही अपराधियों के हौसले बढ़ते जा रहे है। उन्होंने महिलाओं के अधिकार, पाक्सो एक्ट, हिन्दू विवाह अधिनियम की जानकारी दी। अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश संघपुष्पा भतपहरी ने कहा कि हमारा समाज व माता-पिता बेटा और बेटी में फर्क करना बंद नही करेगें, तब तक बच्चों में नैतिक शिक्षा के विकास में अस्थिरता बनी रहेगी। उन्होंने कहा कि हमारा समाज ऐसा है कि जहां बेटे के जन्म पर खुशियॉ मनाई जाती है, वहीं बेटी के जन्म पर मातम। उन्होंने कहा कि ज्यादातर घरेलू हिंसा के केस में दहेज व शराब के सेवन का होना पाया जाता है। शिविर में नगर पालिका अध्यक्ष थलेश्वर साहू, पार्षद राजेश सिंह, धनकुमारी, सुशीला साहू, सत्य नारायण सिंह, उमेश कुमार उपस्थित थे।

X
महिलाएं कमजोर नहीं होती, जरूरत है बस उनके आत्मविश्वास को जगाने की: न्यायधीश गिरजा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..