Hindi News »Chhatisgarh »Surajpur» चंद हफ्ते सप्लाई के बाद से बंद है नल-जल योजना, गर्मी में पानी की किल्लत

चंद हफ्ते सप्लाई के बाद से बंद है नल-जल योजना, गर्मी में पानी की किल्लत

जिला मुख्यालय से महज सात किमी दूर सोनपुर पंचायत में नल जल योजना का लोगों को कोई फायदा नहीं मिल रहा है। गांव के...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 02, 2018, 03:30 AM IST

चंद हफ्ते सप्लाई के बाद से बंद है नल-जल योजना, गर्मी में पानी की किल्लत
जिला मुख्यालय से महज सात किमी दूर सोनपुर पंचायत में नल जल योजना का लोगों को कोई फायदा नहीं मिल रहा है। गांव के छपरीपारा में पिछले साल बनी पानी की टंकी से गांव में पानी की सप्लाई होती है लेकिन योजना के शुरू होने के कुछ हफ्ते बाद ही पंप जलने से पानी सप्लाई बंद है। पंचायत प्रतिनिधि भी इस मामले में लापरवाह बने हुए हैं।

रामानुजनगर जनपद अंतर्गत सोनपुर पंचायत की करीब ढाई हजार आबादी के लिए इन दिनों पानी का संकट है। अदानी के रेलवे लाइन प्रोजेक्ट मेंे गांव का बड़ा हिस्सा प्रभावित होने के कारण यहां उक्त कंपनी द्वारा एक ट्यूबवेल लगवाया गया है, इसी से गांव के लोगों को पानी मिलता है। इधर पंचायत द्वारा नल जल योजना पर ध्यान नहीं दिए जाने के कारण ही आज यह बंद पड़ा है। पिछले साल ही इसका निर्माण पूरा हुआ था। निर्माण के बाद कुछ हफ्तों तक टंकी से पानी सप्लाई होती रही। इसके बाद से पानी सप्लाई बंद है। गांव के आत्मा सोनवानी, अनिल सोनवानी, रामा, प्रवीण कुमार का कहना है कि अब तक लोगोें को कुछ हफ़्ते तक ही पानी मिल पाया है। इसे बंद हुए छह महीने से ज्यादा हो गए हैं लेकिन दोबारा चालू कराने सरपंच ने ध्यान नहीं दिया। इस भीषण गर्मी में गांव के लोगों को पानी की समस्या से जूझना पड़ रहा है। एकमात्र ट्यूबवेल से गांव का काम चल रहा है लेकिन पानी लेने मेंे लोगों को काफी इंतजार करना पड़ता है। इस समस्या पर न तो सरपंच और न ही जनपद के अधिकारियों का ध्यान है। इधर समस्या से परेशान ग्रामीणों का कहना है कि जल्द ही इसका समाधान नहीं हुआ तो आंदोलन का रास्ता अपनाना पड़ेगा।

एकमात्र बोर से चल रहा काम

समस्या दूर करने सरपंच भी गंभीर नहीं:सोनपुर गांव के सरपंच विजय भी इस समस्या को लेकर ज्यादा गंभीर नहीं है। उनसे जब पानी सप्लाई बंद होने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि मोटर जल गया है, जब बनकर आएगा तो चालू हो जाएगा। योजना के रखरखाव की जिम्मेदारी संभालने वाले लोग जब इस तरह की दलील दे रहे हों तो समस्या के जल्दी दूर होने की उम्मीद कम नजर आती है। इस संबंध में जनपद पंचायत के सीईओ बीपी चुरेंद्र से संपर्क करने की कोशिश की गई तो उनका फ़ोन स्विच ऑफ था।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Surajpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×