Hindi News »Chhatisgarh »Surajpur» अच्छी शिक्षा के साथ छात्र-छात्राओं में प्रतिस्पर्धा के गुण भी विकसित करें

अच्छी शिक्षा के साथ छात्र-छात्राओं में प्रतिस्पर्धा के गुण भी विकसित करें

अम्बिकापुर| सरगुजा संभाग के कमिश्नर अविनाश चंपावत ने कहा है कि बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देने के साथ ही साथ...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 13, 2018, 03:35 AM IST

अम्बिकापुर| सरगुजा संभाग के कमिश्नर अविनाश चंपावत ने कहा है कि बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देने के साथ ही साथ गणित, विज्ञान, पर्यावरण, सामान्य ज्ञान व मनोविज्ञान विषयों से संबंधित प्रतियोगिता का आयोजन करें, ताकि बच्चों में स्पर्धा के गुण विकसित हो सके। इसके साथ ही बच्चों को खेल गतिविधियों से निरंतर जोड़े रखें और जिलास्तरीय प्रतियोगिताओं का आयोजन भी करें।

चंपावत ने यह निर्देश गुरुवार को संभागायुक्त कार्यालय में आयोजित शिक्षा विभाग, सर्व शिक्षा अभियान व आदिवासी विकास विभाग की संभागीय समीक्षा बैठक मेंं अधिकारियों को दिए। चंपावत ने कहा कि प्रतियोगिता आयोजित करने विषयवार हर जिले में प्रारूप तैयार कराएं और पांचों जिले के प्रारूप को एक मॉडल कार्यक्रम के रूप में अमली जामा पहनाएं। उन्होंने कहा कि निर्धारित कार्यक्रम सभी जिलों के लिए सर्वमान्य रहेगी और इसे पूरे सालभर स्कूलों में जारी रखें। उन्होंने कहा कि प्रतियोगिता में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले छात्र-छात्राओं को स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस में सम्मानित कराएं, ताकि उनमें उत्साह और आगे बढ़ने की ललक बनी रहे। संभागायुक्त ने कहा कि सभी स्कूलों व आश्रम-छात्रावासों में किचन-गार्डन तैयार कराएं, जिनमें मौसमी सब्जियों और फलदार पौधे भी लगाएं। किचन-गार्डन में शाक-सब्जियां और पौधे लगाने के साथ-साथ देखभाल के लिए विद्यार्थियों को भी शामिल करें। उन्होंने कहा कि जिन स्कूलों में बाउंड्रीवॉल नहीं है, वहां के किचन-गार्डन की अच्छी तरह से फेंसिंग कराकर पौधारोपण कराएं। इस दौरान उपायुक्त (विकास) महावीर राम सहित सरगुजा, कोरिया, जशपुर, सूरजपुर और बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के जिला शिक्षा अधिकारी, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास व सर्वशिक्षा अभियान के जिला समन्वयक उपस्थित थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Surajpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×