सूरजपुर

  • Hindi News
  • Chhattisgarh News
  • Surajpur News
  • उंचडीह में विकास यात्रा लेकर पहुंचे सीएम 226 करोड़ के कार्यों का किया लोकार्पण
--Advertisement--

उंचडीह में विकास यात्रा लेकर पहुंचे सीएम 226 करोड़ के कार्यों का किया लोकार्पण

मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह की विकास यात्रा रविवार को सूरजपुर जिले में पहुंची। उन्होंने ऊंचडीह में आयोजित आम सभा में...

Dainik Bhaskar

May 21, 2018, 03:45 AM IST
उंचडीह में विकास यात्रा लेकर पहुंचे सीएम 226 करोड़ के कार्यों का किया लोकार्पण
मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह की विकास यात्रा रविवार को सूरजपुर जिले में पहुंची। उन्होंने ऊंचडीह में आयोजित आम सभा में 226 करोड़ के विभिन्न निर्माण कार्यों का शिलान्यास व भूमिपूजन किया। वहीं उन्होंने कहा कि बस्तर के दंतेवाड़ा में आज नक्सलियों ने फिर जवानों पर हमला किया है। नक्सली विकास विरोधी हैं लेकिन हमें इनकी परवाह नहीं करनी है। हम नक्सलियों को मुंहतोड़ जवाब देंगे। सीएम ने शहीद जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की।

डॉ सिंह ने रविवार सुबह सूरजपुर के ऊंचडीह में आयोजित सभा को संबोधित करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ में सबसे अधिक 10 हजार डबरियां और 2 हजार कुओं का निर्माण सूरजपुर जिले में कराया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने ओड़गी के महाविद्यालय का नामकरण पूर्व मंत्री स्व. शिव्रप्रताप सिंह और सिलफिली के महाविद्यालय का नामकरण पूर्व सांसद स्व. मुरारी लाल सिंह के नाम पर करने की घोषणा की । इस अवसर पर गृह जेल एवं लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री रामसेवक पैकरा ने कहा कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत गांव-गांव में पक्की सड़क बन गई है। राज्य सभा सांसद रामविचार नेताम ने कहा कि योजनाओं की बदौलत सरगुजा क्षेत्र का तेजी से विकास हो रहा है। इस अवसर पर प्रभारी मंत्री भैयालाल राजवाड़े, मार्कफेड के अध्यक्ष राधाकृष्णन गुप्ता, पूर्व मंत्री रेणुका सिंह, पूर्व विधायक श्रीमती रजनी त्रिपाठी आदि मौजूद रहे।

सीएम डॉ सिंह 226 करोड़ रुपए के कार्यों किया लोकार्पण व भूमिपूजन

सूरजपुर में कार्यक्रम को संबोधित करते सीएम डॉ रमन सिंह

बगैर मांगे यहां की जनता को दिया जिला और ब्लॉक

डॉ. सिंह ने कहा कि हमारी सरकार द्वारा बगैर मांगे सूरजपुर को वर्ष 2012 में न केवल जिला बनाया गया, बल्कि जिले के सभी विकासखण्डों को तहसील का दर्जा दिया गया। उन्होंने कहा कि सूरजपुर जिले की विकासगाथा का यह उदाहरण है कि आज यहां एक साथ 226 करोड़ की लागत से विभिन्न विकास और निर्माण कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास किया गया है। उन्होंने कहा कि जिले के किसानों के बैंक खातों में 42 करोड़ रुपए धान बोनस की राशि भी एक क्लिक कर हस्तांतरित कर दी गई है।

संविधान के दायरे में पत्थलगड़ी का विरोध नहीं:सीएम ने कहा है कि पत्थलगड़ी का कोई विरोध नहीं है, लेकिन संविधान के दायरे में रहकर शहीदों की याद में चिन्ह स्थापित करें। इस अभियान में सरकारी अधिकारियों को बंधक बनाना कहां तक सही है। ये बातें पत्रकारों से चर्चा के दौरान कही।

सीएम ने जिलेभर की गिनाई विकासगाथा

सीएम ने कहा कि सूरजपुर के धार्मिक स्थल कुदरगढ़ में 8 करोड़ की लागत से राजनांदगांव के डोंगरगढ़ की तरह रोपवे का निर्माण कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि 1 करोड़ 50 लाख रुपए की लागत से सूरजपुर रेलवे स्टेशन रोड का निर्माण कराया जा रहा है। केरता में शक्कर कारखाना खुलने से यहां के किसानों की आमदनी बढ़ी है। मुख्यमंत्री ने सिलफिली में स्थापित पिलखा क्षीर नामक डेयरी प्रोजेक्ट का नामकरण किया। इसमें प्रतिदिन 5 हजार लीटर दूध का संकलन 30 रूपए प्रति लीटर के दर से 2 हजार किसानों से खरीदा जाता है।

राजपुर में सीएम ने जनहित की मांगें पूरी करने का किया वादा

राजपुर| सीएम डॉ रमन सिंह ने रविवार को जनदर्शन के दौरान बलरामपुर जिले के लोगों एवं समाज के प्रमुख लोगों से मिलकर उनकी समस्या सुनी। इस दौरान पूरे जिले से बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता, ग्रामीणजन, समाज के प्रमुख लोग मिलने पहुंचे। मुख्यमंत्री ने कहा कि जनहित से जुड़ी समस्याएं शीघ्र हल किए जाएंगे, मैं विकास करने के बाद जनता के दरबार में आया हूं। उन्होंने कहा कि राजपुर बहुत अच्छा स्थान है। कई बार मैं यहां आया हूं लेकिन रुकने का सौभाग्य पहली बार प्राप्त हुआ है। जनदर्शन के दौरान लोगों ने जनहित से जुड़े कई मांगे रखीं जिसमें राजपुर में उप कोषालय, झींगों से गोपालपुर एवं राजपुर से प्रतापपुर तक पक्की सड़क निर्माण ,हाईस्कूल मैदान में स्टेडियम का निर्माण, सामरी विधानसभा क्षेत्र के तीनों विकासखंड को मिलाकर नवीन जिला बनाने एवं राजपुर को जिला मुख्यालय बनाने की मांग की गई ।अधिवक्ता संघ की ओर से राजपुर में अपर कलेक्टर न्यायालय अपर व जिला सत्र न्यायाधीश की भवन व मंगलम भवन बनाने की मांग की गई। जनदर्शन में कंवर समाज, ब्राह्मण समाज, क्षत्रिय समाज, अग्रवाल समाज द्वारा मांगों एवं समस्याओं को लेकर के मुख्यमंत्री से मुलाकात की। इस दौरान भाजपा जिलाध्यक्ष शिवनाथ यादव, मंडल अध्यक्ष संजय सिंह उपस्थित थे।

अंबिकापुर पहुंचे राजनाथ, आज बस्तरिया बटालियन की पासिंग आउट परेड में होंगे शामिल

ख़राब मौसम के कारण डेढ़ घंटे देरी से पहुंचे केंद्रीय गृह मंत्री

भास्कर संवाददाता|अंबिकापुर

सीआरपीएफ की पहली बस्तरिया बटालियन के पासिंग आउट परेड में शामिल होने के लिए केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह रविवार शाम को मौसम ख़राब होने के बाद भी अंबिकापुर पहुंचे। पीजी काॅलेज मैदान में उनका हेलीकाॅप्टर करीब डेढ़ घंटे की देरी से हल्की बारिश के बीच उतरा। यहां भाजपा नेताओं व वरिष्ठ अधिकारियों ने अगवानी की। हालांकि कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के कारण केवल राज्यसभा संसद रामविचार नेताम,प्रदेश के गृह मंत्री रामसेवक पैकरा,भाजपा जिलाध्यक्ष अखिलेश सोनी,अनुराग सिंहदेव व अंग नॉमिनेटेड नेताओं को ही हेलीपेड तक प्रवेश दिया गया था। नेताओं ने उनका स्वागत किया। राजनाथ सिंह ने सभी नेताओं से हेलीपेड से ही बाहर खड़े कार्यकर्ताओं का हाथ हिलाकर अभिवादन किया। इसके बाद सर्किट हाउस पहुंचे। गृहमंत्री की अगवानी करने वालों में सीआरपीएफ के डीजीपी के अलावा प्रदेश के डीजीपी ए एन उपाध्याय,कलेक्टर किरण कौशल,एसपी सदानंद कुमार व अन्य अधिकारी शामिल थे।

तेज आंधी व बारिश से प्रभावित हुआ कार्यक्रम: गृह मंत्री के आगमन से पहले शहर सहित आसपास के इलाके में तेज आंधी बारिश हुई।पीजी कालेज मैदान में पानी भर गया था।इस वजह से गृहमंत्री के दौरे के रद्द होने के कयास लगाए जा रहे थे। टेंट भी तेज हवा में उड़ गया था। पूरी तैयारी पर मौसम की मार ने पानी फेर दिया था लेकिन गृहमंत्री का कार्यक्रम रद्द नहीं हुआ। करीब डेढ़ घंटे की देरी से राजनाथ बीएसएफ के हेलीकाप्टर से राजनाथ सिंह पीजी काॅलेज मैदान में उतरे।

नागा बटालियन की तर्ज पर बनाया गया है बस्तरिया बटालियन: नक्सलियों से मोर्चा लेने के लिए सीआरपीएफ में पहली बार नागा बटालियन की तर्ज पर बस्तरिया बटालियन का गठन किया गया है। सीआरपीएम के अनुसार इस पहली बटालियन में 543 जवान हैं जिसमें 189 महिला जवान हैं। इस बटालियन के गठन का मुख्यमंत्री रमन सिंह ने 2016 में केंद्रीय गृह मंत्रालय को प्रस्ताव भेजा था जिसे स्वीकार कर लिया गया था। बटालियन में बस्तर संभाग के स्थानीय युवाओं की ही भर्ती होगी। इन्हें पहले पांच साल तक बस्तर में ही सेवा देनी होगी।

पासिंग आउट परेड में सीएम डॉ रमन भी होंगे शामिल

सीआरपीएफ की पासिंग आउट परेड में सीएम डॉ रमन सिंह भी शामिल होंगे। वे सोमवार को हेलीकॉप्टर से सीधे अजिरमा स्थित सीआरपीएफ के ट्रेनिंग सेंटर में उतरेंगे। इसके बाद वे राजनाथ सिंह के साथ रायपुर जाएंगे। वे रायपुर सीआरपीएफ व पुलिस अधिकारीयों के साथ नक्सल आपरेशन की समीक्षा बैठक लेंगे, सीएम भी शामिल होंगे।

बस्तर में नक्सली हमले के बाद सीआरपीएफ का बड़ा खाना कैंसिल: सीआरपीएफ 62वीं बटालियन द्वारा केंद्रीय गृ़हमंत्री राजनाथ सिंह के अंबिकापुर प्रवास के दौरान रविवार को रखा गया बड़ा खाना का आयोजन आाखिरी क्षणों में कैंसिल हो गया। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत रात में गृहमंत्री का भोजन सीआरपीएफ के अधिकारियों व जवानों के साथ 62वीं बटालियन में रखा गया था। बताया गया है कि बस्तर में रविवार को नक्सली हमले की घटना के मद्देनजर यह निर्णय लिया गया।

गृहमंत्री के कार्यक्रम पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम

केंद्रीय गृहमंत्री के कार्यक्रम को लेकर जिले में सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। फ़ोर्स द्वारा जमीन से आसमान तक नजर राखी जा रही है। सीआरपीएफ ने अपने स्तर पर अलग व्यवस्था तो की ही है स्थानीय प्रशाशन द्वारा भी कड़े इंतजाम किए गए हैं। 4 सौ से अधिक अफसर व जवान सुरक्षा में तैनात किए गए हैं।

उंचडीह में विकास यात्रा लेकर पहुंचे सीएम 226 करोड़ के कार्यों का किया लोकार्पण
X
उंचडीह में विकास यात्रा लेकर पहुंचे सीएम 226 करोड़ के कार्यों का किया लोकार्पण
उंचडीह में विकास यात्रा लेकर पहुंचे सीएम 226 करोड़ के कार्यों का किया लोकार्पण
Click to listen..