Hindi News »Chhatisgarh »Surajpur» रेण नदी से जल भरकर कांवड़िए देवगढ़ रवाना, प्राचीन मंदिर मेंं जलाभिषेक करेंगे आज, गूंजेंगे भोले के जयकारे

रेण नदी से जल भरकर कांवड़िए देवगढ़ रवाना, प्राचीन मंदिर मेंं जलाभिषेक करेंगे आज, गूंजेंगे भोले के जयकारे

अंचल के प्रमुख तीर्थ स्थल व जमदाग्नि ऋषि की तपोस्थली देवगढ़ स्थित प्राचीन अर्द्धनारीश्वर शिवलिंग पर जलाभिषेक...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 09, 2018, 04:00 AM IST

अंचल के प्रमुख तीर्थ स्थल व जमदाग्नि ऋषि की तपोस्थली देवगढ़ स्थित प्राचीन अर्द्धनारीश्वर शिवलिंग पर जलाभिषेक करने कांवड़ियों का जत्था बुधवार को सूरजपुर छठ घाट स्थित रेणुका नदी से जल उठा कर तड़के 4ः30 बजे रवाना हुआ। बोल बम और हर-हर महादेव की गूंज के साथ शुरू हुई कांवड़ यात्रा में बच्चे, किशोर, जवान व महिलाएं बड़ी संख्या शामिल हुए। जगह-जगह उनकी सेवा के लिए समाज सेवी संगठनों द्वारा जलपान व पेयजल की व्यवस्था की गई है। कांवड़िए गुरुवार को देवगढ़ स्थित शिवलिंग में जलाभिषेक करेंगे।

सूरजपुर स्थित छठ घाट से जल उठा कर देवगढ़ धाम तक की पदयात्रा 25 वर्ष पूर्व शुरू की गई थी, तब से लेकर आज तक नवयुवक श्री दुर्गा मंडल के नेतृत्व में यह यात्रा जारी है। इसमें हर साल कांवड़ियों की संख्या बढ़ती जा रही है। कांवड़ यात्रा को लेकर जहां एक और श्रद्धालुओं में उत्साह देखा गया वहीं सेवादारों ने भी उत्साह के साथ शिव भक्तों की सेवा में कोई कसर नहीं छोड़ी। छठ घाट में पूजा अर्चना के बाद कांवरियों की टोली जब रवाना हुई तो कुछ ही दूरी पर नगर के उत्साही युवाओं के द्वारा शिव भक्तों की सेवा के लिए पेयजल व जलपान की व्यवस्था की गई थी। शहर के भीतर संतोष सोनी के द्वारा पेयजल की व्यवस्था की गई थी। मानपुर स्थित रिंग रोड चौक में युवक कांग्रेस द्वारा जलपान व ग्राम लाची मेें व्यवसायी लालचंद अशोक कुमार अग्रवाल द्वारा जलपान की व्यवस्था की गई थी। ग्राम केतका में बैजनाथ अवधेश कुमार अग्रवाल द्वारा जलपान व फलाहार, राजापुर में भोले की फौज करेगी मौज व महंगई में विजय अग्रवाल व पवन अग्रवाल द्वारा शिवभक्तों की सेवा की गई। दमाउकुट में नवयुवक दुर्गा मण्डल विश्रामपुर, बरपारा में रामेश्वर प्रसाद नरेश कुमार जिंदल तथा देवगढ़ में त्रिभुवन सेवा समिति बैकुण्ठपुर, नवयुवक दुर्गा मण्डल सूरजपुर द्वारा नाश्ता, भोजन, फलाहार समेत अन्य सुविधाएं प्रदान की गई।

पद यात्रा 25 वर्ष पूर्व शुरू की गई थी, तब से लेकर आज तक नवयुवक श्री दुर्गा मंडल के नेतृत्व में जारी

सूरजपुर। नदी से तड़के जल भर कर देवगढ़ के लिए जाते कांवड़िए।

भास्कर संवाददाता|सूरजपुर

अंचल के प्रमुख तीर्थ स्थल व जमदाग्नि ऋषि की तपोस्थली देवगढ़ स्थित प्राचीन अर्द्धनारीश्वर शिवलिंग पर जलाभिषेक करने कांवड़ियों का जत्था बुधवार को सूरजपुर छठ घाट स्थित रेणुका नदी से जल उठा कर तड़के 4ः30 बजे रवाना हुआ। बोल बम और हर-हर महादेव की गूंज के साथ शुरू हुई कांवड़ यात्रा में बच्चे, किशोर, जवान व महिलाएं बड़ी संख्या शामिल हुए। जगह-जगह उनकी सेवा के लिए समाज सेवी संगठनों द्वारा जलपान व पेयजल की व्यवस्था की गई है। कांवड़िए गुरुवार को देवगढ़ स्थित शिवलिंग में जलाभिषेक करेंगे।

सूरजपुर स्थित छठ घाट से जल उठा कर देवगढ़ धाम तक की पदयात्रा 25 वर्ष पूर्व शुरू की गई थी, तब से लेकर आज तक नवयुवक श्री दुर्गा मंडल के नेतृत्व में यह यात्रा जारी है। इसमें हर साल कांवड़ियों की संख्या बढ़ती जा रही है। कांवड़ यात्रा को लेकर जहां एक और श्रद्धालुओं में उत्साह देखा गया वहीं सेवादारों ने भी उत्साह के साथ शिव भक्तों की सेवा में कोई कसर नहीं छोड़ी। छठ घाट में पूजा अर्चना के बाद कांवरियों की टोली जब रवाना हुई तो कुछ ही दूरी पर नगर के उत्साही युवाओं के द्वारा शिव भक्तों की सेवा के लिए पेयजल व जलपान की व्यवस्था की गई थी। शहर के भीतर संतोष सोनी के द्वारा पेयजल की व्यवस्था की गई थी। मानपुर स्थित रिंग रोड चौक में युवक कांग्रेस द्वारा जलपान व ग्राम लाची मेें व्यवसायी लालचंद अशोक कुमार अग्रवाल द्वारा जलपान की व्यवस्था की गई थी। ग्राम केतका में बैजनाथ अवधेश कुमार अग्रवाल द्वारा जलपान व फलाहार, राजापुर में भोले की फौज करेगी मौज व महंगई में विजय अग्रवाल व पवन अग्रवाल द्वारा शिवभक्तों की सेवा की गई। दमाउकुट में नवयुवक दुर्गा मण्डल विश्रामपुर, बरपारा में रामेश्वर प्रसाद नरेश कुमार जिंदल तथा देवगढ़ में त्रिभुवन सेवा समिति बैकुण्ठपुर, नवयुवक दुर्गा मण्डल सूरजपुर द्वारा नाश्ता, भोजन, फलाहार समेत अन्य सुविधाएं प्रदान की गई।

आज जलाभिषेक करेंगे हजारों भक्त

अंबिकापुर के शंकरघाट से जल लेकर रवाना हुए हजारों कांवड़िए गुरुवार को कैलाशगुफा में जलाभिषेक करेंगे। साेमवार सुबह बांक नदी से जल उठाकर हजारों श्रद्धालुओं का जत्था गाते-बजाते कैलाशगुफा के लिए रवाना हुआ है। पहले दिन श्रद्धालुओं ने बतौली में विश्राम किया। तड़के सभी वहां से कैलाशगुफा के लिए रवाना हो गए। शाम को वहां पहुंचने के बाद श्रद्धालुओं ने विश्राम किया। गुरुवार को तड़के कांवड़िए यहां जलाभिषेक करेंगे।

कोई हादसा न हो इसलिए दिनभर डटे रहे कार्यकर्ता

नवयुवक दुर्गा मंडल के संस्थापक सदस्य मदन लाल गोयल के नेतृत्व में अन्य पदाधिकारियों ने कांवड़ यात्रा शुरू होने से पूर्व ही सारी व्यवस्था की है। जैसे ही कांवड़ियों का जत्था जल उठाने के लिए यहां पहुंचा तो नवयुवक दुर्गा मंडल के कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों ने जल उठाने से लेकर पूजा अर्चना तक में उन्हें सहयोग किया। रेण नदी के बढ़ते हुए जल स्तर को देखते हुए कहीं कोई अप्रिय घटना ना हो जाए इसलिए उन्होंने गोताखोरों की भी व्यवस्था यहां कर रखी थी। दुर्गा मंडल के सदस्य इस बात का विशेष ध्यान रख रहे थे कि कोई भी कांवरिया गहरे जल की ओर न जाने पाए। उत्साहवर्धन के लिए दुर्गा मंडल के कार्यकर्ता दिनभर सक्रिय रहे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Surajpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×