Hindi News »Chhatisgarh »Surajpur» नाला बंधान के काम में सरगुजा प्रदेश में अव्वल

नाला बंधान के काम में सरगुजा प्रदेश में अव्वल

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने रमन के गोठ में कहा कि यह गौरव की बात है कि राज्य में जल संकट की स्थिति से निपटने के लिए जल...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 09, 2018, 04:40 AM IST

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने रमन के गोठ में कहा कि यह गौरव की बात है कि राज्य में जल संकट की स्थिति से निपटने के लिए जल संरक्षण एवं संवर्धन के लिए कार्य किए गए हैं। गांव का पानी गांव में और खेत का पानी खेत में रोकने के लिए महात्मा गांधी नरेगा योजना के तहत प्रदेश में दस हजार नाला बंधान के काम हुए हैं। इनमें 948 कार्य पूर्ण कर सरगुजा जिला प्रदेश में अव्वल रहा।

कोरिया जिला 901 नाले बांधकर दूसरे स्थान पर है। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने जल संरक्षण के लिए इसी तरह अन्य जिलों को भी काम में तेजी लाने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि इस साल भी नाला बंधान का काम अच्छी तरह से करें। उन्होंने कहा कि अनेक स्थानों पर किसान आपसी सहयोग से नाला बंधान का काम करते हैं। ऐसे किसानों, उनके समूहों और अन्य लोगों को प्रोत्साहित करना चाहिए और सार्वजनिक कार्यक्रमों में उनका सम्मान भी किया जाना चाहिए। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने जल संसाधनों के विकास को अपनी सबसे बड़ी प्राथमिकता बताते हुए कहा कि इसके लिए अल्पकालीन और दीर्घकालीन, दोनों तरह के उपाय किए गए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य गठन के समय छत्तीसगढ़ में निर्मित सिंचाई क्षमता सिर्फ 13 लाख 28 हजार हेक्टेयर थी, जो आज बढ़कर 20 लाख 61 हजार हेक्टेयर हो गई है। उन्होंने कहा कि दूरगामी योजना के तहत नदियों को जोड़ने की परियोजनाओं पर भी विचार किया गया है। इसके अंतर्गत महानदी-तांदुला, पैरी-महानदी, रेहर-अटेम, अहिरन-खारंग, हसदेव-केवई और कोड़ार-नैनी नाला लिंक परियोजनाएं शामिल हैं।

बच्चे गर्मी की छुटि्टयों का करें बेहतर इस्तेमाल

मुख्यमंत्री ने अपने मासिक रेडियो वार्ता रमन के गोठ में बच्चों और अभिभावकोंे को खुशखबरी देते हुए कहा कि इस बार गर्मी की छुट्टी पूरे डेढ़ माह की मिलेगी। यह छुट्टी 1 मई से 16 जून तक होगी। इस तरह बच्चे गर्मी की छुट्टियों का बेहतर इस्तेमाल कर सकेंगे। रमन के गोठ को जिला मुख्यालय सहित गांवों में लोगांे ने सुना।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Surajpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×