Home | Chhatisgarh | Vishrampur | साल भर से खुला है एसईसीएल का बैरियर कबाड़ और काेयला चोरी की बढ़ी वारदातें

साल भर से खुला है एसईसीएल का बैरियर कबाड़ और काेयला चोरी की बढ़ी वारदातें

भास्कर संवाददाता |बिश्रामपुर एसईसीएल के मेन बैरियर का संचालन क्षेत्रीय प्रबंधन द्वारा पिछले करीब एक वर्ष से...

Bhaskar News Network| Last Modified - May 27, 2018, 03:25 AM IST

साल भर से खुला है एसईसीएल का बैरियर कबाड़ और काेयला चोरी की बढ़ी वारदातें
साल भर से खुला है एसईसीएल का बैरियर कबाड़ और काेयला चोरी की बढ़ी वारदातें
भास्कर संवाददाता |बिश्रामपुर

एसईसीएल के मेन बैरियर का संचालन क्षेत्रीय प्रबंधन द्वारा पिछले करीब एक वर्ष से बंद कर देने के बाद से कबाड़ व काेयला चोरांे की मानो लाटरी खुल गई है। मेन बैरियर का संचालन बंद हाे जाने व इसे खुला छाेड़ देने वहां से सिक्यूरिटी हटा ली गई है।

खदानों क्षेत्राें को सुरक्षित रखने क्षेत्र के स्थापना काल से जीएम आफिस के पीछे विश्रामपुर कुम्दा रेल्वे क्रासिंग के पास प्रबंधन द्वारा मेन बैरियर की स्थापना करा यहां नाका लगाया गया था। यहां तीनों शिफ्ट में सुरक्षा कर्मी तैनात रहते थे जो खदान क्षेंत्र में प्रवेश करने वाले या बाहर निकलने वाले चार पहिया वाहनों की रजिस्टर में इंट्री करते थे। इसके साथ खदान से बाहर निकलने वाले हर वाहनों की जांच की जाती थी। जांच के बाद इंन्ट्री के बाद वाहनों को बाहर जाने दिया जाता था लेकिन गत वर्ष निजी सुरक्षा एजेंसियो की सेवा समाप्त क्षेत्रीय प्रबंधन ने बैरियर को बंद कर इसे लावारिस छोड़ दिया जिससे कोयला व कबाड़ चोरों की सक्रियता खदान क्षेत्राें में बढ़ गई है।

पिछले साल प्रबंधन से निजी सुरक्षा एजेंसियों की सेवा समाप्त की, इससे बने हालात

पिछले साल क्षेत्रीय प्रबंधन ने निजी सुरक्षा एजेंसियों की सेवा समाप्त कर दी, जिससे चोरों के हौसले बुलंद हैं।

सुरक्षा अमले की लिखित शिकायत के बावजूद प्रबंधन नहीं ले रहा रुचि: बावजूद प्रबंधन की अनदेखी लगातार जारी है जबकि कुम्दा व ओसीएम खदानाें से समय समय पर रोड सेल के कोयले का उठाव निजी वाहन स्वामियों द्वारा किया जाता है। बताया जाता है कि बैरियर संचालन से पूर्व में कई गड़बड़ियां उजागर होती थी लेकिन अब वाहनों के बेखौफ आने-जाने पर निगरानी नही हाेने से अवैध कारोबारियों की मौज हो गई है । प्रबंधन सुरक्षा अमले की लिखित शिकायत के बावजूद बैरियर संचालन के लिए रूचि नहीं ले रहा है।

मेन बैरियर के अंदर कुम्दा क्षेत्र की दो भूमिगत खदानें संचालित

वर्तमान में मेन बैरियर के अन्दर कुम्दा क्षेत्र की दो भूमिगत खदानें संचालित हैं जबकि एक ओसीएम खदान, रीजनल स्टोर, लांगवाल स्टोर, रीजनल वर्कशॉप के अतिरिक्त दो-दो साइडिंग संचालित है बावजूद इसके बैरियर संचालन बंद करना प्रबंधन की लापरवाही व अनदेखी उजागर करती है । तीन दिन पहले ओसीएम खदान मे कबाड़ चोरों द्वारा पिकप घुसा कबाड़ चाेरी की घटना को अंजाम दिया गया था।

prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now