शिव तांडव के मंचन को सराहा, राधा-कृष्ण के प्रेम रास ने दर्शकों को किया आनंदित

Ambikapur News - दोपहर से शुरू होकर रात तक चलते रहे सांस्कृतिक कार्यक्रम, कई राज्यों से आए कलाकारों ने दी प्रस्तुति भास्कर...

Jan 16, 2020, 06:25 AM IST
Ambikapur News - chhattisgarh news praised the performance of shiva tandava radha krishna39s love raas made the audience happy
दोपहर से शुरू होकर रात तक चलते रहे सांस्कृतिक कार्यक्रम, कई राज्यों से आए कलाकारों ने दी प्रस्तुति

भास्कर न्यूज|अंबिकापुर/बलरामपुर

मकर संक्रांति के अवसर पर तातापानी में आयोजित तीन दिवसीय मेले के अंतिम दिन भक्तों का सैलाब उमड़ा। अंतिम दिन लगभग 2 लाख भक्तों ने पवित्र गर्म पानी के कुंड में स्नान किया और सूर्य को अर्घ्य अर्पित कर तपेश्वर महादेव के दर्शन किए।

वहीं दोपहर बाद शुरू हुए सांस्कृतिक कार्यक्रमों में कलाकारों ने दर्शकों का मनोरंजन किया। सांस्कृतिक कार्यक्रम देर रात तक जारी रहे। इस वर्ष मकर संक्रांति का मुख्य पर्व 15 जनवरी को होने के कारण बुधवार को बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचे। प्रशासन के अनुसार लगभग दो लाख लोगों ने स्नान किया और भगवान के दर्शन किए। इस दौरान मेला परिसर में पूरे दिन लोगों की खासी भीड़ रही। मेले में आसपास के पांच राज्यों के लोग पहुंचते हैं। बुधवार को दोपहर बाद सांस्कृतिक मंच पर रंगारंग प्रस्तुतियां दी गईं। इस दौरान स्कूली बच्चों ने छत्तीसगढ़ी लोकनृत्य समेत विभिन्न प्रस्तुतियां दीं और तालियां बटोरीं। वही रात्रिकालीन कार्यक्रमों में स्थानीय कलाकारों ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। इसके बाद राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव में प्रदर्शन करने वाले जिले के कलाकारों ने मनमोहक प्रस्तुतियां दीं। वहीं दीपक चंद्राकर और उनकी टीम की ओर से छत्तीसगढ़ी लोकरंग की प्रस्तुति दी गई। इसके बाद दर्शकों ने लेजर लाइट शो का आनंद लिया। इसके साथ ही शौल शेकर डांस ग्रुप की ओर से शानदार नृत्य की प्रस्तुति दी गई। वहीं देर रात भोजपुरी गायिका निशा पांडेय के गीतों पर दर्शक थिरकते रहे।

रंगारंग प्रस्तुतियों की देर रात तक धूम, लाेकनृत्य ने बांधा समां

उत्कृष्ट नृत्य शैली एवं आधुनिक वेशभूषा से सुसज्जित कलाकारों ने ने दर्शकों को बांधकर रखा। शिव झांकी की कलाकारों ने राधाकृष्ण का प्रेम, शिव तांडव, राजा-रानी का प्रेम जैसे विषयों पर अपनी मनमोहक नृत्य का मंचन किया। तातापानी में शिव तांडव के मंचन को दर्शकों ने खूब पसंद किया। कठपुतली के कलाकारों में आदिवासी सम्राट, कथककली नृत्यांगना, आदिवासी महिला, तपस्या, सुन्दरी एवं जोकर ने अपनी प्रतिभा से बच्चों का खास मनोरंजन किया। कठपुतलियां पूरे महोत्सव में आकर्षण का केन्द्र बनी रही।

X
Ambikapur News - chhattisgarh news praised the performance of shiva tandava radha krishna39s love raas made the audience happy
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना