• Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Ambikapur
  • Ambikapur News chhattisgarh news there are 133 patients of filariasis in surguja so that other people are not infected the team will reach home to feed the drug

सरगुजा में फाइलेरिया के 133 मरीज हैं, इनसे दूसरे लोग संक्रमित न हों इसलिए दवा खिलाने घर-घर पहुंचेगी टीम

Ambikapur News - लाइलाज बीमारी के रूप में माने जाने वाले फाइलेरिया को नियंत्रित करने स्वास्थ्य विभाग ने गुरुवार से जिले के हर...

Nov 22, 2019, 06:25 AM IST
लाइलाज बीमारी के रूप में माने जाने वाले फाइलेरिया को नियंत्रित करने स्वास्थ्य विभाग ने गुरुवार से जिले के हर व्यक्ति को दवा का डोज देने अभियान शुरू कर दिया।

स्वास्थ्य विभाग की टीम घर-घर जाकर हर व्यक्ति को इसका एक डोज देगी। मेडिकल काॅलेज अस्पताल में विधायक डाॅ. प्रीतम राम व सीएमएचओ डाॅ. पीएस सिसोदिया ने दवा खाकर इसकी शुरुआत की। सरगुजा जिले में पिछले कुछ सालों के भीतर फाइलेरिया के 133 मरीज सामने आए हैं। ये काफी पुराने केस हैं। इससे यह माना जा रहा है कि इनकी वजह से जिले के दूसरे लोग इस बीमारी से संक्रमित हो सकते हैं। इसलिए विभाग द्वारा घर-घर टीम भेजकर इसकी दवा खिलाई जा रही है। इसमें लोगों को उम्र के अनुसार एलवेंडाजोल व डीसी(डाईइथाइल कार्बामाजिन) टेबलेट खिलाई जाएगी। डाॅक्टरों के अनुसार दवा की एक डोज से फाइलेरिया का संक्रमण एक साल के लिए खत्म हो जाता है। 23 नवंबर तक चलने वाले इस अभियान में सरगुजा जिले में 9 लाख 67 हजार 629 लोगों को दवा खिलाई जाएगी।

विधायक डाॅ. प्रीतम राम ने कहा कि इस बीमारी का इलाज बचाव ही है। यह बचाव दवा की एक डोज से संभव है। उन्होंने कहा कि यह कार्यक्रम तभी संभव होगा जब दूरस्थ क्षेत्र में रहने वाले अंतिम व्यक्ति फाइलेरिया से बचने की दवा लें। सीएमएचओ डाॅ. पीएस सिसोदिया, दिल्ली से आए फाइलेरिया नियंत्रण कार्यक्रम के अधिकारी डाॅ. महेश कौशिक ने लोगों से इस दवा का डोज लेने की अपील की। कहा कि इस दवा का कोई साइड इफेक्ट नहीं है। कार्यक्रम में मदन जायसवाल, टीएस धंज्जल, स्वास्थ्य विभाग के राजेश गुप्ता, संतोष भारद्वाज, सुरजीत कुशवाहा, राजेंद्र साहू, विजय गुप्ता सहित अन्य उपस्थित थे।

फाइलेरिया के संक्रमण को रोकने सरगुजा जिले में 9.67 लाख लोगों को 3 दिन में खिलाई जाएगी दवा, इससे एक साल तक किसी को संक्रमण का नहीं होगा खतरा, विधायक ने दवा खिलाकर अभियान शुरू किया

डॉक्टर बोले- बचाव ही है फाइलेरिया की बीमारी का इलाज, इसलिए जागरूकता दिखाकर खाएं दवा

दवा खिलाकर अभियान काे शुरू करते विधायक डाॅ. प्रीतम राम व अधिकारी।

स्वास्थ्य विभाग की 14 सौ टीमें घर-घर जाकर लोगों को खिलाएंगी दवा

फाइलेरिया की दवा खिलाने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने 14 सौ टीमें बनाई हैं। एक टीम में दो कर्मचारी शामिल हैं। 21 से 23 नवंबर तक टीम अपने-अपने क्षेत्र में घर-घर जाकर परिवार के हर व्यक्ति को दवा खिलाएंगी। इस अभियान के तहत विभाग द्वारा सरगुजा जिले में 9 लाख 67 हजार 629 लोगों को दवा खिलाने का लक्ष्य रखा गया है।

क्यूलैक्स फैंटीगस मादा मच्छर के काटने से फैलता है फाइलेरिया

फाइलेरिया की बीमारी क्यूलैक्स फैंटीगस मादा मच्छर के काटने से फैलती है। जब यह मच्छर किसी फाइलेरिया से ग्रस्त व्यक्ति को काटता है तो वह संक्रमित हो जाता है। यह मच्छर जब किसी स्वस्थ व्यक्ति को काटता है फाइलेरिया के विषाणु उसके शरीर में फैलते हैं। संक्रमित व्यक्ति में इसका लक्षण पांच से दस साल बाद नजर आता है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना