बालियां निकली, 15 दिन बाद हरूना की कटाई

Anchalik News - राजिम| धान में बालियां निकल आई हैं और दीपावली के बाद कटाई शुरू होगी। वहीं देर से पकने वाली माई धान में लंबी-लंबी...

Oct 13, 2019, 07:20 AM IST
राजिम| धान में बालियां निकल आई हैं और दीपावली के बाद कटाई शुरू होगी। वहीं देर से पकने वाली माई धान में लंबी-लंबी बालियां निकलने लगी हैं। वैसे तो 40% हरुना धान 1010, 1008, महामाया, बमलेश्वरी आदि प्रजाति की फसलें किसानों ने अंचल में लगाई हैं, जिसकी कटाई दशहरा के समय प्रारंभ हो जाती थी। चूंकि इस बार बारिश एक महीने बाद होने की वजह से धान की बुआई समय से पहले नहीं हो पाई थी और एक माह विलंब हो गया था। इस वजह से धान कटाई में भी विलंब हुआ है।

इस वर्ष भले ही मानसून एक महीना देरी से आया, लेकिन समय-समय पर बारिश अच्छी होने से फसलें इस बार 16 आने होगी, ऐसा किसानों का मानना है। फिलहाल अंचल के किसान कीटों के प्रकोप से जूझ रहे हैं और कीटनाशक दवाइयां डाल रहे हैं। अंचल के किसान नेता चंद्रशेखर साहू ने बताया कि अब भी किसान फसलों में कीट प्रकोप से बेहद परेशान हैं तथा महंगी से महंगी कीटनाशक दवाइयां कीटों को नियंत्रण करने डाल रहे हैं। चाप, शीत ब्लास्ट, पता मोड़ जैसे नुकसान पहुंचाने वाली कीटों का हमला तेज गति से चल रहा है। किसान नीलकंठ सोनकर, संतोष कुमार, किसलाल साहू, लीला राम साहू ने बताया कि महंगी दवाई खरीदने से हमारी कमर टूट गई है। लगातार हम खेत में दवाई का छिड़काव कर रहे हैं।

बावजूद इसके पत्ता मोड़ व शीत ब्लास्ट ने परेशान करके रख दिया है। ऐसे में कृषि विभाग के अधिकारियों को किसानों को सलाह मशविरा देने के लिए चौपाल लगानी चाहिए। लेकिन उनकी इस ओर अब तक किसी प्रकार की पहल नहीं की गई है। नतीजतन किसान दवाई दुकानों में जाकर विक्रेता के अनुसार महंगी दवाइयां खरीद रहे हैं और छिड़काव कर रहे हैं।

राजिम. अंचल के गांवों में धान में बालियां निकली।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना