क्षेत्र की दस से अधिक सड़कों की हालत खराब जिम्मेदार नहीं बनवा रहे, ग्रामीणों में गुस्सा

Anchalik News - क्षेत्र के दर्जन भर से ज्यादा सड़कों की हालत जर्जर अवस्था में पहंुच चुकी है। जिसको लेकर ग्रामीण काफी नाराज है।...

Sep 22, 2019, 07:15 AM IST
क्षेत्र के दर्जन भर से ज्यादा सड़कों की हालत जर्जर अवस्था में पहंुच चुकी है। जिसको लेकर ग्रामीण काफी नाराज है। इनमें से अधिकांश सड़कों को बने हुए दस साल से अधिक समय बीत चुका है। उन सड़कों के नवीनीकरण की आवश्यकता है। सबसे ज्यादा खराब हालत सारधा से चंदियाभांठा, बोड़तराकलाॅ से फुलवारी एफ, लोरमी से डोंगरिया, लाखासार से डोंगरिया, लगरा से बघमार, सहित अन्य सड़कों के हैं।

मालूम हो कि लोरमी विधानसभा क्षेत्र में विगत एक वर्ष से कोई भी सड़क नहीं बनी है। सड़कों की हालत लगातार बद से बद्तर होती जा रही है। गांव-गांव में पीएमजीएसवाई, एमजीएसवाई के तहत बनाई गई सड़कें पूरी तरह से खराब हो चुकी हैं। इस कारण ग्रामीण क्षेत्र के लोग काफी आक्रोशित हैं। बरसात के बाद सड़कों की हालत और भी बदहाल हो गई है। बोड़तराकलाॅ से फुलवारी एफ जाने के लिए सड़क विगत 7 वर्ष पहले बनाई गई थी। इस मार्ग से प्रतिदिन जंगली क्षेत्रों से हजारों लोग मुख्यालय पहुचते हैं। इसी प्रकार तहसील चौक लोरमी से झझपुरीकलाॅ, डोंगरिया, कोदवा मंहत मार्ग जो कि 12 वर्ष पहले बनाया गया था। लेकिन 12 साल बीत जाने के बाद भी न तो नवीनीकरण किया गया और न ही निर्माण करवाया गया। डोंगरिया लोरमी मार्ग व्यापारिक सहित वनवासियों का ब्लाॅक मुख्यालय को जोड़ने वाली एक मात्र सड़क मार्ग है। लेकिन इस पर भी जनप्रतिनिधियों ने ध्यान नही दिया। आलम यह है कि मार्ग पर पैदल चलना भी मुश्किल हो गया है।

क्षेत्र की सड़कों की जर्जर हालत, न हो रही मरम्मत और न करवा रहे निर्माण

खस्ताहाल डोंगरिया-झझपुरीकलाॅ मार्ग से ग्रामीण करते हैं प्रतिदिन आवागमन।

लगरा से बघमार 3 किमी सड़क बनने में लगे 8 साल

लगरा से बघमार को जोड़ने वाली सड़क बनने में 8 वर्ष का समय लग गया है। यह मार्ग पूरी तरह से जर्जर अवस्था में पहुंच चुका है। मार्ग को खस्ताहाल देख ग्रामीण पैदल भी चलना पसंद नहीं करते है और अन्यत्र मार्ग से जाकर अपना गुजर बसर करते हैं। ग्रामीण राजकुमार काठले, नवल डाहिरे ने बताया कि मार्ग को बनाने के लिए विधायक, मंत्री सहित अन्य नेताओ से मांग कर चुके है।

आजादी के बाद से नहीं बन सका लाखासार मार्ग

लाखासार डोंगरिया मार्ग आजादी से लेकर आज तक नही बन पाया है। मार्ग की न तो मरम्मत हुई है और न ही बनाने की दिशा में पहल की जा रही है। इस मार्ग जनप्रतिनिधियों ने चलकर विधायक, सांसद, जनपद सदस्य, जिला पंचायत सदस्य के लिए वोट मांगे होंगे, लेकिन मार्ग की हालत नहीं देखी। ग्रामीण सोहन वर्मा, शेर सिंह वर्मा, मुकेश वर्मा, राम सिंह ने कहा कि इस बार जो भी लाखासार वोट मांगने आएंगे, पहले मार्ग को बनवाएंगे।

बोड़तराकलाॅ से फुलवारी एफ मार्ग खस्ताहाल

बरसात के बाद सड़क की हालत काफी खराब हो चुकी है। बोड़तराकलाॅ से फुलवारी एफ तक बनी पक्की सड़क 7 वर्ष पहले बनाई गई थी, लेकिन अब न तो उसकी मरम्मत कराई जा रही है और न ही बनाने की दिशा में पहल की जा रही है। ग्रामीणों ने सड़क बनाने की मांग कलेक्टर सहित प्रभारी मंत्री व मुख्यमंत्री से की है, लेकिन कोई पहल नहीं की गई। इससे ग्रामीण परेशान हो रहे हैं।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना