शहर में नात गाते घूमे नबी के दिवाने, पुष्प वर्षा कर स्वागत

Anchalik News - नवापारा राजिम| रविवार को मुस्लिम जमात ने जश्‍ने ईद मिलादुन्नबी पर शहर में जुलूस निकाला। बड़ी संख्या में नात गाते...

Nov 11, 2019, 07:25 AM IST
नवापारा राजिम| रविवार को मुस्लिम जमात ने जश्‍ने ईद मिलादुन्नबी पर शहर में जुलूस निकाला। बड़ी संख्या में नात गाते नबी के दीवानों ने शहर के मुख्य मार्गो पर जलसा निकाला। जुलूस जामा मस्जिद से निकलकर शहर के प्रमुख मार्ग स्टेशन पारा, चांदी चौक, मोमिनपारा, सदर बाजार, कुम्हार पारा, शिव चौक, सुभाष चौक, गंज मार्ग, काली मंदिर, कृषि उपज मंडी, पंजवानी चौक, देना बैंक, महावीर चौक, गांधी चौक, नेहरू गार्डन होते हुए वापस जामा मस्जिद पहुंचा।

इस दौरान मार्ग में स्थानीय परिषद ने नगर पालिका के समक्ष, भास्कर कार्यालय जय महाकाल ट्रेडर्स, गांधी चौक एवं सदर में जुलूस का जगह-जगह स्वागत पुष्प वर्षा, फल, ठंडा, शर्बत, बिस्किट, चॉकलेट आदि से किया गया। जुलूस में बड़ी संख्या में बच्चे, युवा सभी वर्ग के लोग शामिल हुए। इस दौरान सुरक्षा की दृष्टिकोण से पुलिस बल शामिल था। जामा मस्जिद में दोपहर में परचम कुशाई की रस्म अदा की गई। जलालुद्दीन रिजवी ने सलातो-सलाम पेश करने के बाद देश, प्रदेश और शहर में अमन-चैन व आपसी भाईचारे की दुआएं मांगी। उसके बाद आम लंगर शुरू हुआ। शहर के मुस्लिम समाज ने व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस प्रशासन को धन्यवाद दिया है।

जुलूस के दौरान मुस्लिम जमात के गौसिया मस्जिद तर्री के सदर हाजी मो. अकबर खान, मुश्ताक ढेबर, अब्दुल सत्तार चौधरी, हाजी गुलाम खोखर, बसीर चांगल, मो. शफीक भाई, अय्यूब रिजवी, अब्दुल समद चांगल, मो. सरवर सुलड़ा, मो. सोहेल, मो. इस्माइल चैहान, इमरान सोलंकी, मो. कलीम सोलंकी, साजिद तिगाला, एजाज वारसी, फिरोज चैहान, मो. अयाज चैहान, साबीर सुलड़ा, जाकीर चौहान, अतहर रिजवी, असलम मेमन, गुलाम मुस्तफा, जुनैद सोलंकी, रजा चांगल, अकरम मेमन, इरफान,, अशरफ, अब्दुल रज्जाक सहित बड़ी संख्या में समाज के लोग मौजूद थे।

नवापारा राजिम. ईद मिलादुननबी के जुलूस में निकले नबी के दिवाने।

तकरीर के प्रोग्राम का भी आयोजन हुआ

जुमेरात को बाद नमाजे ईशा तकरीरी प्रोग्राम जामा मस्जिद के बाजू सीरत मैदान में हुआ। शुक्रवार एवं शनिवार दोनों दिन तकरीर के प्रोग्राम में मुकर्रिरे खुसूसी अहसानुल हक बरेली शरीफ ने शानदार तकरीर की। कारी साजिद साहब बांदा और सिकंदर अली शादाब कलकत्ता ने रूमानी आवाज में नातो-मनकबत पेश किया। हाफिज व कारी मो. फाईक रजा एंव शिरत कमेटी की देख रेख में सभी जलसे हुए। जामा मस्जिद के इमाम मुमताज आलम, गौसिया मस्जिद के इमाम मौलाना गुलाम अली साहब रौनके-स्टेज थे। जुमा को बाद नमाजे ईशा नातिया मुशायरा रखा गया, जिसमें शहर व बाहर के नात खां ने रूमानी आवाज में नात पढ़ा। शनिवार को फजर एवं जोहर की नमाज के पहले रसूलल्लाह सल्लल्लाहो अलैहे वसल्लम के मुए (सिर के बाल) मुबारक की जियारत कराई गई।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना