कांड़सर में गौ-पूजन कर नवाखाई मनाया गया, दूर दूर से पहुंचे श्रद्धालु

Anchalik News - विकासखंड मुुख्यालय मैनपुर से 70 किमी दूर अनंत महिमा शक्ति सागर गौ सेवा केंद्र कांड़सर में विशाल गौ पूजन के साथ...

Aug 14, 2019, 07:40 AM IST
Mainpur News - chhattisgarh news nawakhai was celebrated by performing cow worship in kansar devotees from far and wide reached
विकासखंड मुुख्यालय मैनपुर से 70 किमी दूर अनंत महिमा शक्ति सागर गौ सेवा केंद्र कांड़सर में विशाल गौ पूजन के साथ नवाखाई का भव्य आयोजन किया गया। श्री उदयनाथ बाबा के सान्निध्य में प्रति वर्ष की तरह इस वर्ष भी मैनपुर, गोहरापदर, अमलीपदर, देवभोग, ओडिशा के गौ सेवक श्रध्दालु बड़ी संख्या में इस तीन दिवसीय गौ-पूजन, नवाखाई पर्व के आयोजन में शामिल हुए।

आश्रम के प्रमुख बाबा उदयनाथ द्वारा गौ की महत्ता को दर्शाते हुए बताया गया कि गाय से प्राप्त होने वाली हर वस्तु दूध, गोबर, गौमूत्र, घी, दही सभी जीवन उपयोगी है। गाय के सिर से बहने वाला पसीना गोरोचन अकाट्य रोगों को दूर करता है। जिस घर में गाय निवास करती है उस घर में 33 कोटि देवी देवता प्रसन्न रहते हैं, वहां सभी प्रकार का वास्तुदोष दूर हो जाता है। विदित हो कि कांड़सर स्थित गौ-आश्रम क्षेत्र मेें काफी प्रसिद्ध है जहां गौ-सेवा के साथ साथ गौमूत्र, गौ अंश से आयुर्वेदिक पध्दति से गंभीर रोगों का उपचार किया जाता है। यहां दूर दूर से लोेग उपचार के लिए पहुंचते हैं।

पहले दिन शुक्रवार को क्षेत्र व दूर दूर से आए श्रद्धालुओं द्वारा अखंड ज्योति प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया जहां पूरे दिन भजन संगीत का दौर चलता रहा। दूसरे दिन सूर्य पूजन की उपयोगिता बताते हुए उदयनाथ बाबा द्वारा विधिवत गौ-पूजन एवं नवाखाई पर्व का शुभारंभ किया गया जिसमें दूर दूर से आए श्रद्धालुओं ने नवाखाई पर्व में शामिल होकर प्रसाद ग्रहण किया। क्षेत्र के प्रसिद्ध बाबा उदयनाथ, ध्यानात्मक दास, लोकात्मक दास द्वारा समस्त साधु समाज को नवाखाई तथा विश्व कल्याण अर्थे अाध्यात्मिक,पौराणिक गृहस्थ-जीवन के संबंध में धार्मिक ज्ञान उपस्थित लोगों को प्रदान किया गया।

मैनपुर. कांड़सर में आयोजित गौ-पूजन व नवाखाई पर्व में बड़ी संख्या में जुटे लोग।

सदमार्ग पर चलें तो सबका भला होगा: बाबा उदेनाथ

आयोजन के दौरान बाबा उदेनाथ ने 130 गांव से पहुंचे सैकड़ों अनुयायियों को सदमार्ग पर चलने की सलाह दी। बाबा ने कहा कि सदमार्ग ही स्वर्ग के द्वार तक पहुंचाता है। उन्होंने पुण्य के साथ-साथ निरोगी व स्वस्थ रहने गौ-वंश पालन को बढ़ावा देने की अपील करते कहा कि शास्त्रों में गाय को देवतुल्य माना गया है। वैज्ञानिक दृष्टिकोण से भी गायों को सर्वश्रेष्ठ जीव बताया गया है। गौ-पालन से वातावरण शुद्ध रहता है। इससे मिलने वाला दूध, दही, घी स्वस्थ शरीर का निर्माण करता है।

X
Mainpur News - chhattisgarh news nawakhai was celebrated by performing cow worship in kansar devotees from far and wide reached
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना