एनएच पर हादसे में फिर एक की मौत, इस साल 25 लोग जान गंवा चुके हैं

Anchalik News - मैनपुर देवभोग नेशनल हाईवे 130-सी पर मंगलवार को दर्दनाक सड़क हादसे में एक युवक की मौत हो गई और एक युवक गंभीर रूप से...

Dec 04, 2019, 07:51 AM IST
Devbhog News - chhattisgarh news one died in accident on nh 25 people have lost their lives this year
मैनपुर देवभोग नेशनल हाईवे 130-सी पर मंगलवार को दर्दनाक सड़क हादसे में एक युवक की मौत हो गई और एक युवक गंभीर रूप से घायल हो गया। नेशनल हाईवे की बदहाली के चलते इस मार्ग पर आए दिन दुर्घटनाएं हो रही हैं।

बताना जरूरी है कि क्षेत्र में पिछले 35 महीनों में हुई 794 सड़क दुर्घटनाओं में 230 लोग जान गंवा चुके हैं। हर साल 30 से 40 फीसदी सड़क दुर्घटनाएं नेशनल हाईवे पर ही हुई हैं पर एनएच के अफसर कहते हैं कि कहीं कोई ब्लैक स्पॉट नहीं है। मंगलवार को नेशनल हाईवे पर इंदागांव के पास घटी सड़क दुर्घटना के साथ 2019 में नेशनल हाईवे पर मरने वालों की संख्या 25 हो गई है। मंगलवार को सुबह 9.30 बजे इदागंाव के पास नेशनल हाईवे पर सवारी बस से बाइक सवार सामने से टकरा गया जिससे उसकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई, जबकि पीछे बैठा युवक गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल युवक का मैनपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में प्रारंभिक उपचार के बाद उसे जिला अस्पातल गरियाबंद रेफर किया गया है। थाना इंदागांव से मिली जानकारी के अनुसार न्यू बस सर्विस की यात्री बस सीजी 07 एन 3300 देवभोग से सवारी लेकर मैनपुर की तरफ आ रही थी। उसी दौरान इंदागांव से बाइक सवार इंदागांव निवासी शोभाराम यादव पिता युधिष्ठिर यादव (25 ) अपने एक साथी मोहन यादव पिता लखन यादव(30 ) के साथ देवभोग की तरफ जा रहे थे कि इंदागांव से तीन किलोमीटर दूर देवभोग मार्ग पर बस से जा टकराया। बाइक चला रहे शोभाराम यादव की घटना स्थल पर दर्दनाक मौत हो गई और जबकि पीछे बैठे मोहन यादव गंभीर रूप से घायल हो गए।

250 मीटर में 5 दुर्घटनाएं या 3 मौतें मतलब ब्लैक स्पॉट

नेशनल हाईवे के इंजीनियर एनएस कंवर के मुताबिक एक साल में 250 मीटर के दायरे में 5 दुर्घटनाएं या तीन मौतें हुईं तो ब्लैक स्पॉट कहलाता है। इस स्पॉट पर बचाव व सुरक्षा के लिए उपाय किये जाते हैं। उल्लेखनीय है कि रविवार को करचिया के जिस स्पॉट पर कार दुर्घटना में एक जान गई, उसके 250 मीटर के पहले सितंबर में एंबुलेंस दुर्घटना में दो जानें जा चुकी हैं।

देवभोग. इंदागांव के पास जहां हादसा हुआ, वहां सड़क व शोल्डर की ऊंचाई बराबर नहीं है।

कुल हादसों के 40 फीसदी हादसे नेशनल हाईवे पर: एएसपी

पुलिस रिकॉर्ड के मुताबिक चालू वर्ष 2019 में अब तक 243 सड़क दुर्घटनाएं हुई हैं जिसमें 77 लोगों ने जान गंवाई है। 2018 में 297 दुर्घटनाओं में 78 की जान जा जा चुकी है 418 घायल हो चुके हैं। इसी तरह 2017 में 254 दुर्घटनाओं में 75 की जानें गई हैं और 343 घायल हुए हैं। आंकड़ों के मुताबिक पिछले तीन वर्षों से लगातार नेशनल हाईवे पर होने वाले हादसे कुल हादसों के 30 से 40 फीसदी हैं। मामले में नेशनल हाईवे के रायपुर उपसंभाग-1 के एसडीओ एके श्रीवास्तव ने मौतों के आंकड़ों को नकारते हुए कहा कि नेशनल हाईवे पर कोई भी ब्लैक स्पॉट नहीं है, जिसके लिए कोई सुधार की आवश्यकता हो जबकि एएसपी सुखनंदन राठौर ने कहा कि नेशनल हाईवे पर 30 से 40 फीसदी दुर्घटनाओं के अलावा अंदरुनी सड़कों पर भी दुर्घटनाएं हुई हैं। हादसे खराब सड़कों के अलावा तेज रफ्तार से गाड़ियां चलने के कारण भी होते है।

साइड शोल्डर बन रहा जानलेवा कारण, इन्हीं से हो रहीं दुर्घटनाएं

2015 के बाद से देवभोग झरियाबाहरा तक 75 किमी मार्ग को लोनिवि ने नेशनल हाईवे अथार्टी को सौंप दिया है। तब से सड़क मरम्मत शून्य है। बारिश में सड़कों के दोनों छोर जिसे शोल्डर कहते हैं, बहाव के कारण गहरे हो गए हैं। सड़क व शोल्डर में 1 से डेढ़ फीट का अंतर नजर आने लगा है। मंगलवार को इंदागांव में हुए हादसे व रविवार को करचिया में हुए हादसे की वजह यही गहरे शोल्डर हैं। कार व दुपहिया सवार बड़े वाहनों को साइड देते वक्त इन शोल्डरों से उतरने चढ़ने पर अनियंत्रित होकर दुर्घटना के शिकार हो रहे हैं।

X
Devbhog News - chhattisgarh news one died in accident on nh 25 people have lost their lives this year
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना