कवि ने ‘बेटी पढ़ाओ’ को सार्थक करते बाबू हमु पढ़े ला जाबो...कविता सुनाई

Anchalik News - ग्राम हरदी में सार्वजनिक दुर्गोत्सव समिति ने नवरात्र पंचमी पर हास्य कवि सम्मेलन का आयोजन किया। सरपंच निर्मला...

Oct 05, 2019, 06:55 AM IST
ग्राम हरदी में सार्वजनिक दुर्गोत्सव समिति ने नवरात्र पंचमी पर हास्य कवि सम्मेलन का आयोजन किया। सरपंच निर्मला ध्रुव ने मां दुर्गा की प्रतिमा पर तथा संत कवि पवन दीवान के तैल चित्र की पूजा कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। तत्पश्चात ग्रामवासियों ने अक्षत, गुलाल तिलक कर कवियों का स्वागत किया।

काव्य मंच का संचालन करते हुए हीरालाल गुरुजी ने सर्वप्रथम मां सरस्वती एवं दुर्गा की वंदना के लिए गीतकार नीतिश सोनी को बुलाया। उन्होंने अपने एल्बम के गीत छुरा के दाई शीतला को गाकर दर्शकों को झूमने पर मजबूर कर दिया। इसके बाद हास्य कवि प्रोफेसर विनोद यादव ने छट्ठी में बफर सिस्टम को हास्य में प्रस्तुत कर दर्शकों को हंसने पर मजबूर किया। नरेंद्र साहू ने बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ को सार्थक करते हुए बाबू हमु पढ़े ला जाबो कविता सुनाकर तालियां बटोरीं।

गीतकार दीनदयाल टंडन ने प|ियों के द्वारा पीड़ित पतियों के लिए हास्य गीत... जब ज्यादा हो जाथे मोर पियाई हा प्रस्तुत किया। कवि कुलेश्वर सिन्हा ने शायराना अंदाज में इतना ना सताया करो दिल को लग जाती है... की सुंदर प्रस्तुति दी तथा विवेकानंद की जीवनी को मंच पर उतारा।

किसानों की पीड़ा को दर्शाते हुए कवि देवनारायण यदु ने धन हे गा मोर किसान की ओजमयी रचना प्रस्तुत करते हुए तालियां बटोरीं। व्यंग्यकार ललित साहू जख्मी ने अपने चुटीले व्यंग्य द्वारा नई कविता दुर्गा माता की वंदना छंदबद्ध रचना प्रस्तुत कर वाहवाही लूटी। समाजसेवी शीतल ध्रुव ने नारियों के फैशन और वाह रे कुत्ता तू कितना महान है... को व्यंग्य रूप में प्रस्तुत किया। कवि हीरालाल गुरुजी ने शहीदों को नमन गीत, देश की रक्षा के लिए जो शीश कटाते हैं, देशवासी उनके आगे शीश झुकाते हैं... तथा संस्कार संदेश, कितना मुश्किल है आज बच्चों में संस्कारों को गढ़ना प्रस्तुत कर समापन किया।

कार्यक्रम में दुर्गा समिति अध्यक्ष श्यामसुंदर यादव, लखनलाल तिवारी, भरत लाल साहू, रूपनाथ बंजारे, अमर सिंह तारक, विजय तिवारी, भूपेंद्र कुमार, मोहन ध्रुव, सोमू तारक, बलदेव साहू, लोकेश्वर यादव, जीवन तारक, संतोष तारक, राम रतन कंवर, शिवा, उमेश, राहुल, माधव, युगल, राजा तिवारी सहित महिला-पुरुष, युवा अौर ग्रामवासी उपस्थित थे।

छुरा ग्रामीण. हरदी में कविता पाठ करते कवि।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना