मौली माता की पूजा कर अस्त्र-शस्त्रों के साथ शाही पोशाक में निकले राजा, रैनी मारने की रस्म निभाई

Anchalik News - प्रदेश सहित क्षेत्र में प्रसिद्ध यहां का शाही दशहरा शुक्रवार को हर्षोल्लास अौर धूमधाम से मनाया गया। प्राचीन...

Bhaskar News Network

Oct 13, 2019, 06:55 AM IST
Fingeshwar News - chhattisgarh news worshiped molly mata and performed the ritual of killing the king rainy dressed in royal attire with weapons
प्रदेश सहित क्षेत्र में प्रसिद्ध यहां का शाही दशहरा शुक्रवार को हर्षोल्लास अौर धूमधाम से मनाया गया। प्राचीन मान्यता अौर किवदंती के अनुसार विजयादशमी के तीन दिन बाद तेरस को मनाए जाने वाले दशहरा महोत्सव को देखने के लिए प्रदेश के दूरदराज से श्रद्धालु पहुंचते थे। महोत्सव में चाक-चौबंध व्यवस्था के लिए 350 पुलिस कर्मचारियों को तैनात किया गया था। मंदिर ट्रस्ट कमेटी के सदस्यों के साथ 84 स्टेट के जमींदार अौर पूर्व राज्यमंत्री राजा महेंद्र बहादुर सिंह ने बालाजी, पंच मंदिर, फणिकेश्वर नाथ महादेव अौर नगर के प्रसिद्ध मौली माता मंदिर में राज पुरोहितों के साथ पूजा-अर्चना की। सभी देवालयों में ध्वजारोहण अौर देवधरा पूजा कर बाजे-गाजे के साथ कर शाही दशहरा का शुभारंभ किया। राजा की विशेष पूजा-अर्चना सम्पन्न होते ही दूरदराज से आए सैकड़ों महिला-पुरुष मौली माता मंदिर में मन्नत पूरी होने को लेकर दर्शन करने कतारबद्ध लगे थे।

देर रात राजा की विशाल शोभायात्रा भगवान श्री अौर पुराने अस्त्र-शस्त्र के साथ बाजे-गाजे के साथ निकाली गई। राजशाही वेशभूषा में पूर्व राजा महेंद्र बहादुर सिंह अौर कुंवर निलेंद्र बहादुर सिंह का लोगों ने अभिवादन किया। राजमहल परिसर से निकली शोभायात्रा नगर के प्रमुख मार्ग होते हुए हृदय स्थल बस स्टैंड से हाईस्कूल खेल मैदान पहुंची, जहां रंग-बिरंगी आतिशबाजी के बीच भगवान श्री की विधिवत पूजा अर्चना कर रैनी मारने की रस्म निभाई गई। राजमहल वापस पहुंचते ही राजा के काफिले का परिजनों ने सम्मान किया। इसके बाद भव्य मंच से राजा ने दूरदराज से आए ग्रामीणों का अभिवादन कर उन्हें बधाई देते हुए पान-सुपारी भेंट किया।

फिंगेश्वर. शाही दशहरा देखने बड़ी संख्या में पहुंचे दूरदराज अौर नगर के लोग।

फशोभायात्रा में पूर्व राजा महेंद्र बहादुर सिंह अौर कुंवर निलेंद्र बहादुर सिंह।

ममता चंद्राकर अौर लोककला मंच ने दी प्रस्तुति

रंगारंग मनमोहक कार्यक्रम की प्रस्तुति देते लोक कलाकार।

आयोजन को लेकर मंदिर ट्रस्ट कमेटी ने दूधिया अौर रंगीन बिजली झालरों से राजमहल सहित पूरे नगर को दुल्हन की तरह सजाया था। चौक-चौराहों पर छत्तीसगढ़ी लोक गायिका ममता चंद्राकर अौर महासमुंद के छत्तीसगढ़ लोककला मंच के कलाकारों ने रंगारंग प्रस्तुति दी, जिसने दूरदराज से आए ग्रामीणों को बरबस ही अपनी और आकर्षित किया। एएसपी सुखनंदन राठौर ने नगर में हजारों की भीड़ की सुरक्षा को लेकर चौक-चौराहों पर पुलिस बल की पर्याप्त व्यवस्था की थी। रंगांरग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के प्रस्तुत स्थल को चिह्नांकित कर पर्याप्त पुलिस कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई थी। एएसपी ने कहा कि नगर में करीब 350 पुलिस कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई थी।

मत्था टेककर विधायकों ने समृद्धि की कामना की

महोत्सव में पहुंचे राजिम विधायक अमितेष शुक्ल अौर अभनपुर विधायक धनेंद्र साहू ने मां मौली के दर्शन कर प्रदेश की सुख-समृद्धि की कामना की। प्राचीन परंपरा के दायित्वों का निर्वहन करने अौर उन्हें सहेज कर रखने को लेकर राजमहल परिसर जाकर राजा महेंद्र बहादुर सिंह को बधाई देकर उनके स्वस्थ्य रहने की कामना की। कलेक्टर श्याम धावड़े, एसपी एमआर अहिरे ने महोत्सव स्थल का जायजा लेने के साथ ही मां मावली का दर्शन कर मत्था टेका।

Fingeshwar News - chhattisgarh news worshiped molly mata and performed the ritual of killing the king rainy dressed in royal attire with weapons
Fingeshwar News - chhattisgarh news worshiped molly mata and performed the ritual of killing the king rainy dressed in royal attire with weapons
X
Fingeshwar News - chhattisgarh news worshiped molly mata and performed the ritual of killing the king rainy dressed in royal attire with weapons
Fingeshwar News - chhattisgarh news worshiped molly mata and performed the ritual of killing the king rainy dressed in royal attire with weapons
Fingeshwar News - chhattisgarh news worshiped molly mata and performed the ritual of killing the king rainy dressed in royal attire with weapons
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना