गुंडरदेही में बनाया बाल मित्र थाना, ताकि बच्चे बेझिझक रख सकें अपनी बात

Balod News - भास्कर न्यूज | बालोद/गुंडरदेही गुंडरदेही थाने को बाल अपराधों के प्रति जागरूकता लाने के लिए बालमित्र थाना के रूप...

Bhaskar News Network

Aug 14, 2019, 08:50 AM IST
Gunderdehi News - chhattisgarh news child friend police station made in guandardhi so that children can feel free to talk
भास्कर न्यूज | बालोद/गुंडरदेही

गुंडरदेही थाने को बाल अपराधों के प्रति जागरूकता लाने के लिए बालमित्र थाना के रूप में डेवलप किया गया है। जहां पुलिस प्रशासन बच्चों से दोस्ती बढ़ाने के लिए पहल करेगी। बच्चों के मन से पुलिस का भय दूर किया जाएगा और यह वातावरण निर्मित किया जाएगा कि बच्चे खुद से आकर रिपोर्ट लिखा सके। उनके साथ हुई किसी घटना को भी छिपा ना सके और एक-एक चीज सामने रख सके।

बच्चों के मन से पुलिस का भय दूर करने के लिए इस बालमित्र थाने में स्कूली बच्चों को विजिट भी करवाया जाता है, ताकि वे पुलिस की गतिविधियों को जान सके और उनसे करीब से जुड़ सके। थाने को अब प्ले स्कूल की तरह सजा दिया गया है, ताकि बच्चे जब यहां आए तो डरे नहीं बल्कि खुद को घर, स्कूल या आंगनबाड़ी जैसा महसूस करें।

गुंडरदेही टीआई रोहित मालेकर ने बताया कि जूनाइल जस्टिस एक्ट 2015 के तहत यह प्रावधान है कि हर थाने में बालमित्र कक्ष की स्थापना हो। जहां एक बाल कल्याण अधिकारी और डेस्क प्रभारी हो। जहां बच्चों से संबंधित होने वाले अपराधों की एंट्री हो और उन अपराधों का जल्द से जल्द निराकरण किया जाए। इसी उद्देश्य को ध्यान में रखकर थाने को बालमित्र थाना के रूप में डेवलप किया गया है।

एसपी व विधायक ने किया उद्‌घाटन: बाल मित्र थाना के संकल्पना को साकार करने की दिशा में पहल करते हुए थाना परिसर में समारोह हुआ। जिसमें विधायक कुंवर सिंह निषाद, पद्श्री शमसाद बेगम, एसपी एमएल कोटवानी, एएसपी दौलत राम पोर्ते, डीएसपी दिनेश कुमार सिन्हा, अध्यक्ष नगर पंचायत कोमल सोनकर, तहसीलदार अश्वीन कोसाम, चाइल्ड वेलफेयर कमेटी बालोद से अमित सोनी, खिलेश्वरी नेताम नाग की मौजूदगी में कक्ष का उद्‌घाटन किया गया।

विधायक ने भी बाल मित्र कक्ष को पुलिस में बच्चों के भय को दूर करने अच्छा कदम बताया। एसपी ने कहा कि बच्चों से संबंधित अपराध को रोकने की दिशा में यह सकारात्मक प्रयास है।

पहल: बाल अपराधों के प्रति जागरूकता लाने की कोशिश

बालोद. इस तरह किसी प्ले स्कूल की तरह नजर आ रहा थाना।

भास्कर न्यूज | बालोद/गुंडरदेही

गुंडरदेही थाने को बाल अपराधों के प्रति जागरूकता लाने के लिए बालमित्र थाना के रूप में डेवलप किया गया है। जहां पुलिस प्रशासन बच्चों से दोस्ती बढ़ाने के लिए पहल करेगी। बच्चों के मन से पुलिस का भय दूर किया जाएगा और यह वातावरण निर्मित किया जाएगा कि बच्चे खुद से आकर रिपोर्ट लिखा सके। उनके साथ हुई किसी घटना को भी छिपा ना सके और एक-एक चीज सामने रख सके।

बच्चों के मन से पुलिस का भय दूर करने के लिए इस बालमित्र थाने में स्कूली बच्चों को विजिट भी करवाया जाता है, ताकि वे पुलिस की गतिविधियों को जान सके और उनसे करीब से जुड़ सके। थाने को अब प्ले स्कूल की तरह सजा दिया गया है, ताकि बच्चे जब यहां आए तो डरे नहीं बल्कि खुद को घर, स्कूल या आंगनबाड़ी जैसा महसूस करें।

गुंडरदेही टीआई रोहित मालेकर ने बताया कि जूनाइल जस्टिस एक्ट 2015 के तहत यह प्रावधान है कि हर थाने में बालमित्र कक्ष की स्थापना हो। जहां एक बाल कल्याण अधिकारी और डेस्क प्रभारी हो। जहां बच्चों से संबंधित होने वाले अपराधों की एंट्री हो और उन अपराधों का जल्द से जल्द निराकरण किया जाए। इसी उद्देश्य को ध्यान में रखकर थाने को बालमित्र थाना के रूप में डेवलप किया गया है।

एसपी व विधायक ने किया उद्‌घाटन: बाल मित्र थाना के संकल्पना को साकार करने की दिशा में पहल करते हुए थाना परिसर में समारोह हुआ। जिसमें विधायक कुंवर सिंह निषाद, पद्श्री शमसाद बेगम, एसपी एमएल कोटवानी, एएसपी दौलत राम पोर्ते, डीएसपी दिनेश कुमार सिन्हा, अध्यक्ष नगर पंचायत कोमल सोनकर, तहसीलदार अश्वीन कोसाम, चाइल्ड वेलफेयर कमेटी बालोद से अमित सोनी, खिलेश्वरी नेताम नाग की मौजूदगी में कक्ष का उद्‌घाटन किया गया।

विधायक ने भी बाल मित्र कक्ष को पुलिस में बच्चों के भय को दूर करने अच्छा कदम बताया। एसपी ने कहा कि बच्चों से संबंधित अपराध को रोकने की दिशा में यह सकारात्मक प्रयास है।

जिले में चेतना अभियान की शुरुआत भी यहीं से

टीआई ने बताया कि गुंडरदेही थाने से ही जिले में चेतना अभियान की शुरुआत की गई है। जिसके तहत स्कूली बच्चों को पुलिस से जोड़ने का काम किया जा रहा है। स्कूली बच्चों के बीच विधिक साक्षरता शिविर भी लगा रहे हैं। बच्चों से संबंधित अपराधों पर संवेदनशीलता से काम करने के लिए यह सब प्रयास हो रहा है, ताकि थाने का माहौल बदले और बच्चे बेझिझक होकर अपनी बात रख सके।

X
Gunderdehi News - chhattisgarh news child friend police station made in guandardhi so that children can feel free to talk
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना