अब माताएं बच्चों के साथ ले जा रही एक पौधा

Balod News - जिला अस्पताल सहित ब्लॉक के अस्पतालों में आने वाले प्रसव केस को जब महतारी एक्सप्रेस 102 के जरिए उनके घर तक छोड़ने...

Oct 13, 2019, 06:30 AM IST
जिला अस्पताल सहित ब्लॉक के अस्पतालों में आने वाले प्रसव केस को जब महतारी एक्सप्रेस 102 के जरिए उनके घर तक छोड़ने जाते हैं तो अब माताएं बच्चों के साथ एक पौधा भी घर ले जा रही है। यह अनूठा अभियान पर्यावरण के प्रति जागरूक करने अस्पताल प्रबंधन व जीवीके कंपनी ने शुरू किया है। पूरे छग में इस अभियान के जरिए 3 माह अक्टूबर से दिसंबर तक एक लाख पौधे बांटने का लक्ष्य रखा गया है।

जिले में अब तक 100 से ज्यादा माताओं को पौधा दिया जा चुका है। शनिवार को भी अस्पताल से छुट्टी हो कर पहली बार मां बनी रेंगनी की गीताबाई को उनकी बिटिया के साथ अस्पताल से घर ले जाते समय जामुन का पौधा दिया गया। उन्हें प्रेरित किया गया कि बेटी के साथ इस पौधे की भी परवरिश करें और लोगों को भी पर्यावरण संरक्षण के लिए प्रोत्साहित करें।

बालोद. रेंगनी की गीता 102 वाहन में बेटी के साथ पौधा लेकर जाती हुई।

अर्जुन्दा, गुरुर के अस्पतालों में भी गिफ्ट किए

सिर्फ बालोद जिला अस्पताल ही नहीं बल्कि डौंडी, डौंडीलोहारा, पलारी, चिखलाकसा, गुंडरदेही, अर्जुन्दा, गुरुर के अस्पतालों में भी महतारी एक्सप्रेस सुविधा के जरिए लोगों को पौधे लगाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। रेंगनी की गीता बाई को 102 के ईएमटी विकास कौशिक व पायलेट चुम्मन लाल सोनकर ने बिटिया जन्म की शुभकामना के साथ पौधा गिफ्ट किया। मां बनी गीता ने भी कहा कि इसे वह अपने घर के बाड़ी में लगाकर बेटी की तरह परवरिश करेगी।

कटते पेड़ के बदले जरूरी है इस तरह पौधे लगवाना: 102-108 सेवा के जिला समन्वयक दानेश सार्वा ने कहा कि लगातार विकास के नाम पर पेड़ों की कटाई हो रही है। हरियाली नष्ट हो रही है। प्रदूषण बढ़ रहा है। इन सब को नियंत्रित करने लोगों को पर्यावरण से जोड़ना जरूरी है।

देखने भी जाएंगे कि पौधे सुरक्षित है या नहीं: अस्पताल प्रबंधन व जीवीके के लोग जिन्हे भी पौधे बांट रहे हैं उनका कांटेक्ट नंबर रखे हैं। 3 महीने बाद उन घरों में जाकर पौधों को देखेंगे भी कि वे सही सलामत है या नहीं? उनकी देखभाल हो रही है या नहीं? पूरी मॉनिटरिंग की जाएगी। प्रोत्साहन भी देंगे।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना