प्रदेश सरकार का वादा अधूरा, नहीं खुला गर्ल्स कॉलेज, बजट में घोषणा पर फंड नहीं

Balod News - राज्य में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद पहले बजट में बालोद जिले को कन्या कॉलेज की सौगात दी गई थी। इसके लिए लीड कॉलेज...

Bhaskar News Network

Aug 19, 2019, 06:35 AM IST
Balod News - chhattisgarh news state government39s promise incomplete no girls39 college open no funds on announcement in budget
राज्य में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद पहले बजट में बालोद जिले को कन्या कॉलेज की सौगात दी गई थी। इसके लिए लीड कॉलेज यानी घनश्याम सिंह गुप्त कॉलेज बालोद के अधीन ही कन्या कॉलेज संचालित करने शहर के पुत्री शाला के पुराने भवन को चुना गया था। लेकिन यह विडंबना कहें या सरकार की नाकामी की जिले के लिए पहला वादा ही पूरा नहीं हो पाया। जिसके चलते 16 अगस्त से शुरू नए सत्र में कन्या कॉलेज ही नहीं खुल पाया।

एडमिशन की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। जो भी छात्राएं हैं वे पुराने कॉलेज में एडमिशन ले चुके हैं। उनकी उम्मीद भी टूट गई कि हम इस सत्र से कन्या कॉलेज में पढ़ पाएंगे। इधर कॉलेज प्रबंधन की सारी तैयारी भी धरी की धरी रह गई।

प्राचार्य सहित अन्य अफसर भी अब यही कह रहे हैं कि शासन से कुछ हुआ ही नहीं तो हम क्या कर सकते हैं? बीच में एक टीम प्रस्तावित भवन का निरीक्षण करके गई थी। स्थानीय प्रबंधन ने पूरी रिपोर्ट भी दे दी है। इस नए सत्र से कॉलेज शुरू करने की तैयारी थी। लेकिन वहां से संचालन को लेकर आगे कोई निर्देश नहीं आया।

बढ़ रही संख्या: 60 से 70 % छात्राएं ले चुकी हैं एडमिशन

बालोद. इस तरह रहती है बालोद कॉलेज में एडमिशन के लिए भीड़।

कॉलेज खोलने खाली करवा दिया सियान सदन

आनन-फानन में कॉलेज खोलने के लिए पुत्री शाला के भवन को चयनित किया गया था। जहां समाज कल्याण विभाग का सियान सदन (बहू सेवा केंद्र) और शिक्षा विभाग का सीबीएसई पैटर्न इंग्लिश मीडियम स्कूल संचालित हो रहा था। दोनों संस्थानों को यह कह कर वहां से हटा दिया गया कि यहां कॉलेज खुलेगा। स्कूल को आमापारा में शिफ्ट किया गया। सियान सदन को गंगा सागर तालाब में, लेकिन खाली पड़े भवन में आज तक कॉलेज नहीं खुल पाया।

समस्या इस सत्र भी रहेगी बरकरार, राहत नहीं

कन्या कॉलेज खुलने की आस में कई छात्राएं एडमिशन लेने से रुकी हुई थी। लेकिन जब उनकी आस टूटी तो अब मजबूरी लीड कॉलेज में ही एडमिशन लेना पड़ा। फर्स्ट ईयर में ही लगभग 1200 स्टूडेंट्स ने एडमिशन लिया है। जिसमें 700 से ज्यादा छात्राएं ही शामिल है। यानी तय है कि हमेशा की तरह इस सत्र में भी पुराने कॉलेज में समस्या बरकरार रहेगी। शिक्षा व्यवस्था में सुधार आए और ज्यादा से ज्यादा छात्राओं को एडमिशन का लाभ मिले मंशा अधूरी ही रहेगी।

इसी भवन में खुलना था कन्या कॉलेज लेकिन नए सत्र में खुला ही नहीं।

विपक्ष के नेता इसे लेकर अभी से बना रहे हैं मुद्दा

6 माह पहले से ही बजट में प्रावधान इस कन्या कॉलेज का अब तक नहीं खुल पाने और तैयारी होने के बाद भी मामला बीच में लटकने से अब विपक्ष भी इसे मुद्दा बनाने लगी है। जिस इलाके में कॉलेज खुलना था वहां के पार्षद नितेश वर्मा का कहना है 6 माह पहले वादे पर अस्थाई रूप से कॉलेज संचालन की बात कही गई क्या कन्या कॉलेज बजट प्रावधान मात्र रह जाएगा या खुलेगा भी? क्या यह कांग्रेस सरकार की शहर विरोधी सोच का हिस्सा है?

नहीं आया कोई पत्र

प्राचार्य श्रद्धा चन्द्राकर ने कहा कि पूर्व में रायपुर की टीम ने स्थल निरीक्षण किया था। पुत्री शाला में कॉलेज खोलने की तैयारी थी। लेकिन निरीक्षण के बाद शासन से और कोई पत्र नहीं आया, ना ही कोई फंड आया है। इसका कैसे संचालन करना है, इस संबंध में आदेश प्राप्त ना होने के कारण नए सत्र में शुरुआत नहीं की।

वित्त विभाग में लंबित है

कॉलेज के नवनियुक्त जनभागीदारी अध्यक्ष हसमुख टुवानी ने कहा इसी सत्र में कन्या कॉलेज खुले, इसके लिए पूरा प्रयास कर रहे हैं। विधायक व कांग्रेस अध्यक्ष के साथ चर्चा कर सीएम के पास भी जाऊंगा। मैंने पता किया है बजट में भवन के लिए स्वीकृति हो चुकी है। सिर्फ पद स्वीकृति शेष है। मामला वित्त विभाग में अटका है।

मरम्मत तक नहीं हुई

जिस स्कूल भवन में कॉलेज खोलने की तैयारी चल रही थी, वह भवन भी बदहाल हो चुका है। खपरैल वाला भवन है। जिससे कई जगह पानी भी टपकता है। लेकिन अब तक प्रबंधन और प्रशासन ने भी इसकी मरम्मत नहीं करवाई।

Balod News - chhattisgarh news state government39s promise incomplete no girls39 college open no funds on announcement in budget
X
Balod News - chhattisgarh news state government39s promise incomplete no girls39 college open no funds on announcement in budget
Balod News - chhattisgarh news state government39s promise incomplete no girls39 college open no funds on announcement in budget
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना