कचान्दुर के सचिव ने बिल को नहीं किया सत्यापित, अॉडिट पर भी संदेह

Balod News - ब्लॉक मुख्यालय से 3 किलोमीटर दूर ग्राम पंचायत कचांदुर के महिला सरपंच द्रोपति चंद्राकर व सचिव दुर्गेश सोनी पर 14 वें...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2019, 07:00 AM IST
Gunderdehi News - chhattisgarh news the secretary of kachandur did not verify the bill the audit also doubted
ब्लॉक मुख्यालय से 3 किलोमीटर दूर ग्राम पंचायत कचांदुर के महिला सरपंच द्रोपति चंद्राकर व सचिव दुर्गेश सोनी पर 14 वें वित्त के 14 लाख राशि की गबन की शिकायत पर जनपद पंचायत से नियुक्त जांच अधिकारी वायके साहू, एडीओ सूर्यप्रकाश द्विवेदी व केशवराम आहिर जांच कर रहे हैं। फर्जीवाड़ा के इस मामले में वर्ष 2017-18 में शासन से 14 वित्त की कुल राशि 3264834 रुपए शासन से ग्राम पंचायत को प्राप्त हुआ, जिसमें 2411181 रुपए ग्राम पंचायत के सरपंच सचिव के द्वारा दुकानदारों के (फर्म) खातों में सीधे ट्रांसफर की गई।

श्रमिकों को मेहनताना नगदी 159415 दो साल में भुगतान किया गया। सरपंच के द्वारा दुकानदारों को नकद की स्थिति में 6 लाख 40 हजार 467 रुपए का भुगतान किया गया। 9 हजार 876 रुपए अन्य व्यवस्था में सरपंच ने खर्च किया। पंचायत के बैंक खाते में 43877 रुपये शेष है।

जांच में यह बात भी अब सामने आ रही है कि ग्राम पंचायत में प्रस्तुत बिल को पंचायत सचिव के द्वारा सत्यापित नहीं किया गया है। सरपंच के द्वारा ही सत्यापित बिल लगा हैं। इस पर सचिव ने कहा कि सरपंच द्वारा सत्यापित करने के कारण सचिव द्वारा इनिशियल की आवश्यकता नहीं होती। इन बिल का ऑडिटर द्वारा ऑडिट भी किया जा चुका है केवल सरपंच के सत्यापन पर ही बिना सचिव के साइन से ऑडिट पास करना ऑडिटर भी संदिग्ध के दायरे में हैं। यदि शिकायतकर्ता सामने नहीं आते तो इस बात का खुलासा भी नहीं होता।

लेटरपेड में रसीद टिकट चिपका कर भुगतान: मामले में सरपंच पति की मुख्य भूमिका भी सामने आ रही है जबकि एक ऐसा पत्र प्राप्त हुआ है जिसमें सरपंच के लेटरपेड में रसीद टिकट चिपका कर कई प्रकार का बिल भुगतान किया गया है। वैसे भी गुंडरदेही क्षेत्र के दर्जन भर शिकायत पुलिस थाना से लेकर जनपद जिला कलेक्टर तक पहुंच चुके है । अब तक गुंडरदेही से कई मामलों में आरोपित है। 420 के मामले में ग्राम पंचायत हल्दी के सरपंच, सचिव पर भी गबन के आरोप हैं। ग्राम रनचिरई पर जांच में 1.67 लाख का हेराफेरी सामने आ चुकी है। ग्राम पंचायत जोरातराई में ग्रामीणों ने 20 लाख के भ्रष्टाचार का आरोप सरपंच सचिव पर लगाएं है जिसकी जांच चल रही हैं, ग्राम पंचायत मचैद में धारा 420 सरपंच रोजगार सहायक पर लग चुके हैं। साथ ही ऐसे अनेक मामले पर कई पंचायतों की शिकायत हो चुकी है। पंचायत सचिव दुर्गेश सोनी ने बताया कि शिकायत में जांच चल रही है मैं अपना बयान दे चुका हूं आगे उच्च अधिकारी ही बता पाएंगे।

X
Gunderdehi News - chhattisgarh news the secretary of kachandur did not verify the bill the audit also doubted
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना