ठगों का अब नया दांव, जमीन के बदले 25 लाख एडवांस व गार्ड की नौकरी का अॉफर

Balod News - पहले फोन करके किसानों को टॉवर लगाने के नाम पर झांसा दिया जाता था। अब किसान सतर्क हो गए तो ठगों ने नया तरीका ढूंढ...

Bhaskar News Network

Aug 14, 2019, 08:30 AM IST
Balod News - chhattisgarh news thugs now new bets 25 lakh advance in lieu of land and offer of guard job
पहले फोन करके किसानों को टॉवर लगाने के नाम पर झांसा दिया जाता था। अब किसान सतर्क हो गए तो ठगों ने नया तरीका ढूंढ निकाला है। वह है पंचायत सरपंच व प्रधान के जरिए लेटर भेजना। जिले के कई गांवों के सरपंचों के पास डाक के जरिए आदित्य बिरला, वोडाफोन ग्रुप की ओर से टॉवर लगाने के नाम पर आवेदन पत्र आ रहा है।

जिसमें कंपनी के प्रबंधक सरपंचों से अपील कर रहे हैं कि आप टॉवर लगाने के लिए जगह देने वाले किसान बताओ। पत्र के साथ फॉर्म भी भेजा जा रहा है। जिसमें एक उद्घोषणा पत्र भी शामिल है। जिसे रजिस्ट्रेशन हेतु 4550 जमा करने की पुष्टि के लिए सरपंच से प्रमाणित करवाने की बात भी कही गई है।

इस तरह से दिया गया है झांसा

पत्र में बाकायदा लिखा गया है कि भारत सरकार के द्वारा वोडाफोन - आइडिया टॉवर कंपनी को देश के कुछ चुने हुए गांव में टॉवर लगाने हेतु जमीन के लिए 100 गज और छत के लिए 50 गज जगह की जरूरत है। इसमें कंपनी 18 से 25 लाख एडवांस और 15 से 20 हजार रुपए किराया प्रतिमाह देगी। परिवार से एक व्यक्ति को गार्ड की नौकरी देगी।

जिसे 12 हजार वेतन मिलेगा। आवेदन करने के 3 दिन के भीतर कंपनी एग्रीमेंट करने आएगी। इस योजना के अंतर्गत प्रधान/ सरपंच को अपने गांव में टॉवर लगवाने हेतु प्राधिकृत किया जा रहा है। आपके पास भेजा गया आवेदन पत्र, इच्छुक व्यक्ति को जमीन के विवरण सहित आवेदन करें। आवेदनकर्ता को पंजीकरण हेतु अपनी आईडी से ही जमीन के पेपर ईमेल आईडी पर भेजने कहा गया है। आवेदक को 4550 रुपए बताए गए सर्वे टीम के अकाउंट में जमा कराकर पंजीयन करवाना होगा। सर्वे होने के बाद जमा कराई गई रकम वापस करने की बात कही जा रही है।

टॉवर लगाने के लिए जगह देने वाले किसान बताओ

पत्र में दिया है सुमन टॉवर गांधी नगर दिल्ली का पता

पत्र में ब्रांच ऑफिस कृष्णा नगर न्यू दिल्ली, हेड ऑफिस सुमन टॉवर, सेक्टर 15, गांधीनगर का पता दिया गया है। इसके अलावा 2 लोगों के मोबाइल नंबर भी दिए गए हैं। सांकरा ज के सरपंच धनेश्वरी देशमुख ने कहा कि उनके पास भी यह पत्र पिछले दिनों डाक से आया। उन्हें पढ़कर ही लगा कि यह फ्रॉड है। इसलिए किसी किसान को भी इसके लिए जमीन देने या स्कीम के बारे में बताया ही नहीं।

साइबर एक्सपर्ट बोले कि पैसा देते हैं, लेते नहीं

साइबर सेल प्रभारी पूरन देवांगन ने कहा कि इस तरह का लेटर भेजना पूरी तरह से फ्रॉड है। किसान ऐसे लोगों के झांसे में ना आए। जिस कंपनी को टॉवर लगवाना होता है, वे खुद आकर जगह देखते हैं। किसी किसान से पैसे जमा नहीं करवाते। जमीन के बदले किसान को पैसा देते हैं। लालच में पढ़कर कुछ किसान ऐसे फ्रॉड के चक्कर में फंस जाते हैं। सभी से अपील है कि वे सावधानी बरतें।

X
Balod News - chhattisgarh news thugs now new bets 25 lakh advance in lieu of land and offer of guard job
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना