घोषणा के डेढ़ महीने के बाद ही बचेली को मिल गए एसडीएम

Bastar Jagdalpur News - दंतेवाड़ा| ज़िले की बचेली व कुआकोंडा तहसील के ग्रामीणों को अब राजस्व से जुड़े कामों को निपटाने दंतेवाड़ा की दौड़ नहीं...

Oct 13, 2019, 06:30 AM IST
दंतेवाड़ा| ज़िले की बचेली व कुआकोंडा तहसील के ग्रामीणों को अब राजस्व से जुड़े कामों को निपटाने दंतेवाड़ा की दौड़ नहीं लगानी पड़ेगी। सीएम भूपेश बघेल से बचेली सब डिवीजन की मिली सौगात के बाद इसके लिए काम भी शुरू हो गया है।डिप्टी कलेक्टर प्रकाश भारद्वाज को बचेली का पहला एसडीएम बना दिया गया है। यहां एसडीएम ऑफिस खोलने की तैयारी चल रही है।

बताया जा रहा है हफ्तेभर के अंदर ऑफिस भी खुल जाएगी। फिलहाल राजस्व से जुड़े कामों को बचेली तहसील ऑफिस में बैठकर एसडीएम निपटा रहे हैं। अब तक इन दोनों तहसील के ग्रामीणों को लंबी दूरी तय कर दंतेवाड़ा आना पड़ता था। उपचुनाव की आचार संहिता खत्म होते ही मामले में तेजी आई। सीएम घोषणा के डेढ़ महीने के अंदर ही अफसरों ने तत्परता दिखाते हुए काम भी शुरू कर दिया। कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा ने बताया कि बचेली सब डिवीजन के लिए डिप्टी कलेक्टर को एसडीएम का प्रभार दिया गया है। हफ्ते भर के अंदर दफ्तर बनकर भी तैयार हो जाएगा जिससे दो तहसील के ग्रामीणों को फायदा मिलेगा।

नई सरकार बनने के बाद अफसरों ने दिखाई रुचि: बड़े बचेली को सब डिवीजन बनाने साल 2016 में ही राजस्व व वित्त विभाग की सहमति मिल गई थी। इसके लिए पूरा सेटअप भी तैयार हो गया था। पिछली सरकार व अफसरों ने इसे शुरू कराने ज़्यादा रुचि नहीं दिखाई। ऐसे में स्वीकृति के 3 साल बाद भी यहां एसडीएम कार्यालय नहीं खुल सका था। नई सरकार बनने के बाद दंतेवाड़ा को मिले नए अफसरों ने रुचि दिखाई। दंतेवाड़ा विधानसभा उपचुनाव से पहले सीएम को कलेक्टर टोपेश्वर ने सारा माजरा बताया, सीएम ने बचेली को सब डिवीजन बनाने घोषणा कर दी थी।

अब दूरी होगी कम

राजस्व से जुड़ा किसी तरह का काम हो तो इन इलाकों के ग्रामीणों को लंबी दूरी तय कर ज़िला मुख्यालय आना पड़ता है। बैलाडीला क्षेत्र , अरनपुर, कुआकोंडा क्षेत्र के अंदरूनी गांवों के ग्रामीणों को ज़िला मुख्यालय तक आने करीब 100 किमी का सफर तय करना पड़ता है। कभी -कभी काम नहीं होने पर ग्रामीणों को कइयों बार ज़िला मुख्यालय का चक्कर काटना पड़ जाता है। लेकिन बचेली में एसडीएम कार्यालय होने से इन गांवों की दूरी कम हो जाएगी।

50 से ज्यादा गांवों के ग्रामीणों को राहत

अभी ज़िले में दंतेवाड़ा, बचेली, गीदम,कुआकोंडा व कटेकल्याण 5 तहसील हैं। 124 ग्राम पंचायत व 220 से ज़्यादा गांवों के ग्रामीणों को राजस्व से जुड़े काम के लिए तहसील के बाद दंतेवाड़ा एसडीएम कार्यालय आना पड़ता है। बचेली सब डिवीजन होने के बाद बैलाडीला, कुआकोंडा क्षेत्र के 50 से ज़्यादा गांवों के लोगों को काफी राहत मिलेगी।

X
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना